नीट यूजी के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू, 9 मार्च तक करें अप्लाई, ये है लिंक, मई में होगी परीक्षा, जानें डीटेल

नीट यूजी के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू हो चुके हैं। परीक्षा 5 मई को देश के विभिन्न शहरों में होगी। उम्मीदवार neet.ntaonline.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं।

Manisha Kumari Pandey
Published on -
neet ug 2024

NEET UG 2024: नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट यूजी) के लिए आवेदन शुरू कर दिए हैं। परीक्षा के तहत छात्रों का दाखिला देश के विभिन्न मेडिकल कॉलेज/संस्थानों में एमबीबीएस प्रोग्राम के लिए होगा। रजिस्ट्रेशन पोर्टल खुल चुका है। उम्मीदवार 9 मार्च तक neet.ntaonline.in पर जाकर अप्लाई कर सकते हैं।

परीक्षा के बारे में

इस बार नीट यूजी की परीक्षा 5 मई को देश के विभिन्न शहरों में होगी। परीक्षा केंद्रों (Exam Centers) को 499 से बढ़ाकर 554 कर दिया है। इस बार परीक्षा का आयोजन देश के बाहर नहीं होंगी। एग्जाम ऑफलाइन मोड में 14 भाषाओं में आयोजित होगा। इस दौरान 180 अंकों के मल्टीपल चॉइस प्रश्न पूछे जाएंगे।

ऐसे करें आवेदन

आवेदन करने के लिए एप्लीकेशन नंबर, पसवॉर्ड और सिक्योरिटी पिन की जरूरत पड़ेगी। जनरल के लिए आवेदन शुल्क 1700 रुपये है। वहीं जनरल ईडब्ल्यूएस, ओबीसी-एनसीएल के लिए 1600 रुपये और एससी/एसटी/थर्ड जेंडर उम्मीदवारों के लिए 10000 रुपये शुल्क है। नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करके आप नीट यूजी 2024 के लिए आवेदन कर सकते हैं-

  • सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट neet.ntaonline.in पर जाएं।
  • होमपेज पर दिए गए “NEET UG” के रजिस्ट्रेशन लिंक पर क्लिक करें।
  • सारी जानकारी दर्ज करें और फॉर्म भरें।
  • शुल्क का भुगतान करें और फॉर्म को जमा करें।
  • भविष्य के संदर्भ में एप्लीकेशन फॉर्म का प्रिन्ट आउट निकालकर अपने पास रख लें।

About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News