UGC NET Result: यूजीसी नेट रिजल्ट टला, ये है वजह, NTA द्वारा नोटिस जारी, जानें कब घोषित होंगे परिणाम

Manisha Kumari Pandey
Published on -
UGC Net Result

UGC NET Result 2023: यूजीसी नेट देसम्बर सेशन के परिणाम का इंतजार उम्मीदवारों के लिए अभी खत्म नहीं हुआ है। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के एक बार फिर रिजल्ट को स्थगित कर दिया है। 17 जनवरी को परिणाम घोषित होने वाले थे। लेकिन कुछ तकनीकी गड़बड़ियों (Technical Issues) के कारण परिणाम में देरी हुई। इस संबंध में एनटीए ने नोटिस जारी किया है। बता दें कि 6 दिसंबर से लेकर 19 दिसंबर 2023 तक यूजीसी नेट परीक्षा का आयोजन किया गया था। इसमें करीब 9.5 लाख उम्मीदवार शामिल हुए थे।

आज जारी हो सकता है रिजल्ट

एजेंसी ने कहा, “टेक्निकल इश्यू के कारण यूजीसी नेट का रिजल्ट 17 जनवरी 2024 को घोषित नहीं हो पाया। इसे वेबसाइट पर उचित समय पर घोषित किया जाएगा।” अंदाजा लगाया जा रहा है कि गुरुवार यानि आज 83 विषयों के परिणाम घोषित होंगे। हालांकि  आधिकारिक तौर पर कोई भी तारीख घोषित नहीं की गई है। जो भी उम्मीदवार परीक्षा में शामिल हुए थे उन्हें नियमित तौर पर ऑफिशियल वेबसाइट http://ugcnet.nta.ac.in को विजिट करने की सलाह दी जाती है।

कट-ऑफ और फाइनल आन्सर-की भी जल्द जारी होगा

एनटीए जल्द ही जूनियर रिसर्च फ़ेलोशिप और असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए कट-ऑफ और फाइनल उत्तर कुंजी (Final Answer Key) भी जारी कर सकता है। जनरल के लिए कट-ऑफ 40% हो सकता है।

ऐसे डाउनलोड कर सकते हैं स्कोरकार्ड?

स्कोरकार्ड डाउनलोड करने के लिए एप्लीकेशन नंबर और डेट ऑफ बर्थ की जरूरत पड़ेगी। ऑफिशियल वेबसाइट, UMANG एप और Digilocker के जरिए स्कोरकार्ड डाउनलोड किया जा सकता है। कोई भी परेशनी होने पर उम्मीदवार एनटीए हेल्पलाइन नंबर “01140759000 और 69227700” है।

 


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News