कोरोना को लेकर की थी सरकार की आलोचना, सीनियर वायरोलॉजिस्ट ने सरकार के सलाहकार ग्रुप से भी दिया इस्तीफा

उन्होंने कोरोना बचाव पर लिए गये कदम के ऊपर भी सरकार पर सवाल उठाए थे। हालांकि उन्होंने अपने इस्तीफे के कारण में कुछ भी स्पष्ट नहीं किया हैं उन्होंने खुद बताया कि शुक्रवार को उन्होंने इस पद से इस्तीफा (resignation) दे दिया था।

वायरोलॉजिस्ट

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। देश में कोरोना महामारी (corona pandemic) से जारी जंग के बीच सीनियर वायरोलॉजिस्ट (senior virologist) डॉ शाहिद जमील ने सरकार (government) के विज्ञानी सलाहकार ग्रुप (scientific advisory group) के चेयरमैन (chairman) पद से इस्तीफा दे दिया है। कुछ ही दिन पहले डॉ शाहिद ने कोरोना (corona) से निपटने को लेकर सरकार की आलोचना की थी इसी के साथ उन्होंने कोरोना बचाव पर लिए गये कदम के ऊपर भी सरकार पर सवाल उठाए थे। हालांकि उन्होंने अपने इस्तीफे के कारण में कुछ भी स्पष्ट नहीं किया हैं उन्होंने खुद बताया कि शुक्रवार को उन्होंने इस पद से इस्तीफा (resignation) दे दिया था।

यह भी पढ़ें… कोरोना की लड़ाई में भारत का एक और स्वदेशी कदम, DRDO की दवा 2 DG लांच

बता दें कि कोरोना संकट से जूझ रहे देश में विज्ञानी सलाहकार का समूह बनाया गया था। इस ग्रुप का नाम था भारतीय सार्स सीओवी-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम ( आईएनएसएसीओजी) विज्ञानी सलाहकार समूह। डॉ शाहिद जमील को इसी समूह का चेयरमैन बनाया गया था। इस इस्तीफे पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने अब तक कोई बयान नहीं दिया है।

यह भी पढ़ें… महिला के सुसाइड पर गर्माया मामला, बीजेपी नेत्री का सवाल- अब क्यों खामोश है गांधी परिवार

मार्च के शुरुआत में बनाए गए इसी कंसोर्टियम ने कोरोना वायरस के नए और खतरनाक वेरियंट के बारे में अधिकारियों को चेताया था। लेकिन उस वक़्त ऐसा माना जा रहा है की इस बात को गंभीरता से नहीं लिया गया था। परिणामस्वरूप बी.1.617 नामक इस वेरियंट की वजह से ही देश में कोरोना मामलों में बेकाबू बढ़त देखी गयी और देश का बुरा हाल हो गया।