जबलपुर में बिगड़े हालात, कोरोना से मृत्यु के बाद अंतिम संस्कार के लिए भटकते रहे परिजन

जबलपुर में कोरोना से हालत इतने बिगड़ गए है कि लोगों को अपने परिजनों के अंतिम संस्कार के लिए घंटों इंतजार करना पड़ रहा है।

मध्य प्रदेश

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर (Jabalpur) में भी कोरोना महामारी (Corona epidemic) जमकर तांडव कर रही है। जिसके कारण सेकड़ों लोग अपनी जान दे चुके है। प्रदेश में कई जगह तो शमशान घाटों में दाह संस्कार के लिए जगह तक कम पड़ रही है। वही जबलपुर मेडिकल कॉलेज (Jabalpur Medical College) में भर्ती एक व्यक्ति को मौत के बाद अंतिम संस्कार (Antyesti) के लिए राह तकना पड़, यह तस्वीर मेडिकल कॉलेज की है जो कि आपके रोंगटे भी खड़े कर सकती है, तस्वीर मेडिकल कॉलेज परिसर के बाहर की जहां एक शव रखा हुआ है और उनके परिजन अंतिम संस्कार की राह तक रहे हैं कि कहीं कोई मदद मिल जाए तो अंतिम संस्कार हो सके, पर जबलपुर में इस समय जिस तरह के हालात बने हुए है उससे समझा जा सकता है कि शवों का अंतिम संस्कार करवाना भी एक बड़ी चुनौती बन चुका है।

जबलपुर में बिगड़े हालात, कोरोना से मृत्यु के बाद अंतिम संस्कार के लिए भटकते रहे परिजन

यह भी पढ़ें….शिवपुरी : मौतों के बाद भी बाजारों में नहीं थम रही भीड़, खुलेआम उड़ी नियमों की धज्जियां

जबलपुर में इस तरह की तस्वीरें आय दिन सामने आ रही है कई अस्पतालों में जगह नहीं है तो कहीं अंतिम संस्कार करने के लिए श्मशानघाट भरे हुए हैं,जानकारी के मुताबिक जबलपुर में कल 40 से ज्यादा मौत हुई है जिसमे की 30% जबलपुर में रहने वालों की है, ऐसे में समझा जा सकता है कि वर्तमान में जबलपुर की हालत कितनी चिंताजनक है

सरकारी अस्पतालों में भी नहीं है ईलाज के लिए जगह
जबलपुर जिले में जबलपुर सहित आसपास के जिलों में रहने वाले भी मेडिकल कॉलेज का रूख कर रहे हैं, मेडिकल कॉलेज में भी अब इतनी जगह नहीं बची थी यहां पर इलाज हो सके,जानकारी के मुताबिक होशंगाबाद जिले के पिपरिया में रहने वाली एक महिला कोरोना पॉजिटिव हो गई थी, परिजन उसे इलाज के लिए जबलपुर मेडिकल कॉलेज लेकर आ रहे थे, पर जैसे ही उन्हें जानकारी मिली कि मेडिकल कॉलेज में भी अब इलाज के लिए जगह नहीं बची है तो वह निराश होकर वापस अपने मरीज को घर ले गए।

यह भी पढ़ें….Police : कोरोना के चलते पुलिस मुख्यालय ने छुट्टियों पर चलाई कैंची, आदेश जारी