उज्जैन।
महाकाल की नगरी कहे जाने वाले उज्जैन(ujjain)  में दिनों दिन बढ़ते कोरोना(corona) के आंकड़ों को देखते हुए प्रशासन के माथे पर चिंता की लकीरे है। हालांकि जिला प्रशासन और स्वास्थ विभाग (Administration and health department) की टीम लगातार आंकडों पर काबू पाने का प्रय़ास कर रहा है। इसी कड़ी में आज उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह (Collector Ashish Singh) ने चौबीस खंबा माता मंदिर पर मदिरा चडाकर पूजन अभिषेक किया और उज्जैन शहर को महामारी से मुक्ति दिलाने की प्रार्थना की।इस दौरान कलेक्टर और एसपी खुद सड़क पर शराब से भरी मटकी लेकर चले। रात करीब 8 बजे गढ़कालिका क्षेत्र स्थित हांडी फोड़ भैरव मंदिर में नगर पूजा का समापन होगा। खुशहाली, सुख-समृद्घि और रोग निवारण के लिए नगर पूजा की मान्यता है। चोबीस खम्बा माता मंदिर में की गई आरती में कलेक्टर और एसपी मनोज सिंह भी शामिल हुए।

परंपरा के अनुसार महामारी से बचने के लिए राजा विक्रमादित्य शहर में स्थित चौबीस खंबा माता मंदिर पर मदिरा चढ़ाकर पूजन अभिषेक करते थे आज कोरोना महामारी के प्रकोप से बचने के लिए उज्जैन कलेक्टर ने भी माता मंदिरों को मदिर चढ़ाई और पूजन अभिषेक किया। खास बात है इस मंदिर में मदिरा चढ़ाने की परंपरा साल में एक बार नवरात्रि की अष्टमी पर ही होती है, लेकिन इस बार कोरोनावायरस के चलते चैत्र नवरात्रि में नगर पूजा नहीं हो पाई थी, इसलिए आज कोरोना के प्रकोप से बचने के लिए कलेक्टर ने माता की और मदिरा का भोग लगाकर देशभर में कोरोना के प्रकोप को शांत करने की कामना की।

बता दे कि जिले में कोरोना वायरस का संक्रमण जारी है। गुरुवार को उज्जैन में 29 नए मरीज मिले हैं। साथ ही एक और मौत भी दर्ज की गई है। अब कुल संक्रमितों का आंकड़ा 658 पर पहुंच गया है। इनमें से 55 की मृत्यु हो चुकी है। 302 मरीज ठीक हुए हैं। जिले में अब 301 सक्रिय मरीज बचे हैं।