कोरोना आपदा को अवसर बनाने वालों पर सख्त कार्रवाई के पुलिस को नरोत्तम ने दिये निर्देश

गृह मंत्री और कमलनाथ

 

भोपाल डेस्क ब्यूरो। मध्य प्रदेश के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि कोरोना काल में लोगों की बदहाली का लाभ उठाने वाले लोगों पर सख्त कार्रवाई होगी। उन्होंने जनता से अपील की है कि वे ऐसे लोगों की तुरंत पुलिस में शिकायत करें। पुलिस सख्त कार्रवाई करेगी।

शपथ ग्रहण के बाद राज्यपाल ने दी ममता बनर्जी को नसीहत, ममता ने दिया जवाब

कोरोना काल में लूटमार मचाने वालों पर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। दरअसल संक्रमण के इस कोरोना काल मे कई लोगो ने आपदा को अवसर बना लिया है। अस्पताल में भर्ती कराने से लेकर श्मशान घाट में अंतिम संस्कार तक लूट मची हुई है। ऑक्सीजन, रेमिडिसिविर इंजेक्शन और यहां तक कि अस्पताल के बेड तक कालाबाजारी की चपेट में है। निजी अस्पतालों की तो बन आई है और वे लोगों से मनमाना बिल वसूल कर रहे हैं। इन सब शिकायतों को ध्यान में रखते हुए मध्य प्रदेश की सरकार ने अब आम जनता से अपील की है कि वे सीधे पुलिस थानों में शिकायत करें। ऐसे मुनाफाखोरो के ऊपर सख्त कार्यवाही होगी। गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने इस बात के सख्त निर्देश दिए हैं कि किसी भी व्यक्ति को जो कोरोना की आपदा को अवसर बनाने की कोशिश करें, छोड़ा ना जाए। सरकार पहले ही रेमेडिसिवर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वालों पर रासुका लगाने के निर्देश दे चुकी है।

कोरोना संकटकाल में RBI ने इमरजेंसी हेल्थ सिक्योरिटी के लिए 50,000 करोड़ दिए

डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा ने भोपाल में मंगलवार को जिला प्रशासन द्वारा की गई कार्रवाई का उदाहरण देते हुए बताया कि किस तरह से चार निजी अस्पताल ज्यादा बिल वसूल कर रहे थे।उन चार अस्पतालों में से दो की रजिस्ट्रेशन रद्द करने की कार्रवाई शुरू हो गई है और शेष दो के खिलाफ भी कार्रवाई की जा रही है। इन अस्पतालों में रुद्राक्ष मल्टीस्पेशलिटी और उबंटू अस्पताल का रजिस्ट्रेशन रद्द करने की कार्रवाई की जा रही है जबकि कोलार के भगवत गौतम अस्पताल और निर्माण सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में मरीजों से ज्यादा बिल वसूलने की शिकायतों के बाद मरीजो का शेष बिल वापस कराया गया है। सरकार ने 1075 नंबर का हैल्प नंबर नंबर भी जारी किया है और इसके साथ एसडीएम,तहसीलदार से भी सीधे शिकायत करने के लिए भी कहा गया है।