Influenza B Virus की चपेट में आई एक्ट्रेस देबिना बनर्जी, जानिए कितना खतरनाक है ये वायरस और इसके लक्षण

Influenza B Virus

Influenza B Virus : टीवी एक्ट्रेस देबिना बनर्जी एक ने अपनी करियर को सोपनों के सहारे बनाया और अब उन्हें भारतीय टेलीविजन इंडस्ट्री में एक लोकप्रिय नाम के रूप में जाना जाता है। उनका करियर टेलीविजन सीरियल से शुरू हुआ जहाँ उन्होंने ‘सोमवार से शुक्रवार’ में स्वाति का किरदार निभाया। इसके बाद वह बहुत सारे टेलीविजन सीरियल में काम कर चुकी हैं, जिसमें ‘चांदी चौक से उड़ान भरी’, ‘चल शुरुआत करते हैं’, ‘बॉक्स चालीस की’ और ‘इश्क अब होगा अनोखा’ शामिल हैं। उन्होंने अपनी पहली बॉलीवुड फिल्म में ‘प्राण जाये पर वचन ना जाए’ में काम किया था। वहीं, अभिनेत्रि श्रीलंका से लौटते हुए इन्फ्लुएंजा-बी वायरस के शिकार हो गई, जिनका इलाज किया जा रहा है।

जानिए कितना खतरनाक वायरल

क्या आप जानते हैं यह वायरल कितना अधिक खतरनाक है। दरअसल, इन्फ्लूएंजा-बी वायरस एक वायरल बीमारी है जो संक्रमण के कारण होती है। यह वायरस अधिकतर समय श्वसन पथों तक सीमित होता है और फ्लू जैसे लक्षणों का कारण बनता है। यह वायरस ज्यादातर समय मौसम के बदलाव के समय फैलता है। यह आमतौर पर सर्दी- जुकाम के रूप में दिखाई देता है। इस वायरस संक्रमण से पीड़ित व्यक्ति के शरीर में विभिन्न लक्षण दिखाई देते हैं। बता दें यह खासकर अधिक उम्र वाले व्यक्ति, बच्चों, गर्भवती महिलाओं और निरोगी लोगों के लिए काफी खतरनाक होता है। यह वायरस फ्लू का कारण बनता है, जो ज्यादातर मामलों में एक सामान्य रोग होता है, लेकिन कुछ मामलों में यह गंभीर स्थितियों का कारण बनता है।

वायरस के लक्षण

  • इन्फ्लुएंजा-बी संक्रमण से प्रभावित व्यक्ति का तापमान बढ़ सकता है।
  • संक्रमण से प्रभावित व्यक्ति को खांसी या सांस लेने में परेशानी हो सकती है। इसमें से अधिकतर मामलों में खांसी सूखी होती है।
  • इस संक्रमण से प्रभावित व्यक्ति को शरीर के अलग-अलग भागों में दर्द हो सकता है।
  • इन्फ्लुएंजा-बी संक्रमण से प्रभावित व्यक्ति को थकान या थकावट महसूस हो सकती है।
  • इस संक्रमण से प्रभावित व्यक्ति को शीघ्र बुखार होता है जो दो से तीन दिन तक चलता है।

वायरस से ऐसे करें बचाव

  • इन्फ्लुएंजा वैक्सीन आमतौर पर इन्फ्लुएंजा-बी वायरस से बचाव के लिए प्रयोग की जाती है। वैक्सीनेशन के बाद, आपके शरीर में इम्यूनिटी बनती है जो आपको इस वायरस से संक्रमण से बचाती है।
  • हाथों को नियमित रूप से धोना इन्फ्लुएंजा-बी संक्रमण से बचाव का एक अहम उपाय है। हाथों को साबुन और गर्म पानी से कम से कम 20 सेकंड तक धोना चाहिए।
  • संक्रमित व्यक्ति से संपर्क से बचना इस संक्रमण से बचाव का एक और उपाय है। यदि आपको संक्रमित व्यक्ति के साथ संपर्क करना हो तो मास्क पहनना चाहिए।
  • स्वस्थ भोजन खाना और पूर्ण निद्रा लेना आपके शरीर को संक्रमण से लड़ने के लिए शक्ति प्रदान करता है।

वायरस में इन चीजों को खाएं

  • प्रोटीन संक्रमण के समय शरीर के लिए बहुत जरूरी होता है। मांस, मछली, अंडे, दालें, छोटे स्त्रोत वाले दूध उत्पाद, इत्यादि इस प्रकार के आहार के उत्पाद हैं।
  • फलों और सब्जियों में विटामिन सी, विटामिन ए और अन्य विटामिन और मिनरल्स होते हैं जो इन्फ्लुएंजा-बी संक्रमण से लड़ने में सहायक हो सकते हैं।
  • नींबू पानी विटामिन सी का अच्छा स्रोत है जो संक्रमण से लड़ने में मदद कर सकता है।
  • पौष्टिक सूप का सेवन करें। जिसमें सब्जियां, दालें और नॉन वेज शामिल हो सकता है, इन्फ्लुएंजा-बी संक्रमण के समय सही पोषण प्रदान कर सकता है।
  • शुद्ध पानी शरीर के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। शुद्ध पानी संक्रमणों से लड़ने में मदद करता है क्योंकि यह विषैले पदार्थों और अन्य कीटाणुओं से मुक्त होता है। संक्रमण से पीड़ित व्यक्ति को दिनभर में कम से कम 8-10 गिलास शुद्ध पानी पीना चाहिए।

(Disclaimer- इस लेख में दी गई डिटेल्स सामान्य जानकारी पर आधारित है। अपनाने से पहले चिकित्सक की सलाह अवश्य लें।MP Breaking News इन जानकारियों की पुष्टि नहीं करता है।)


About Author
Sanjucta Pandit

Sanjucta Pandit

मैं संयुक्ता पंडित वर्ष 2022 से MP Breaking में बतौर सीनियर कंटेंट राइटर काम कर रही हूँ। डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन और बीए की पढ़ाई करने के बाद से ही मुझे पत्रकार बनना था। जिसके लिए मैं लगातार मध्य प्रदेश की ऑनलाइन वेब साइट्स लाइव इंडिया, VIP News Channel, Khabar Bharat में काम किया है। पत्रकारिता लोकतंत्र का अघोषित चौथा स्तंभ माना जाता है। जिसका मुख्य काम है लोगों की बात को सरकार तक पहुंचाना। इसलिए मैं पिछले 5 सालों से इस क्षेत्र में कार्य कर रही हुं।

Other Latest News