क्या आपके पास भी है एक से ज्यादा Credit Cards? आज ही जानें फायदे और नुकसान

credit cards

Credit Cards : क्रेडिट कार्ड ऐसी चीज हो चुकी है जो अब अधिकांश लोगों के पास होती है और उनकी जरूरत भी है। इस जरूरत के चलते और नए नए ऑफर्स के बारे में जानकर लोग एक से ज्यादा क्रेडिट कार्ड रखने लगते हैं। क्रेडिट कार्ड रखने के बारे में सबकी अपनी पसंद होती है। कुछ लोग एक भी क्रेडिट कार्ड रखना पसंद नहीं करते। कुछ लोग एक से ज्यादा क्रेडिट कार्ड रखकर उसके टाइम साइकिल को भी बखूबी मैनेज कर लेते हैं। लेकिन ये भी जान लेना जरूरी है कि एक से ज्यादा क्रेडिट कार्ड रखना फायदेमंद है या नुकसानदायी।

Credit Cards रखने के फायदे

एक से ज्यादा क्रेडिट कार्ड रखने का एक अहम फायदा ये है कि आप बैलेंस ट्रांसफर आसानी से कर सकते हैं मान लीजिए आपने एक क्रेडिट कार्ड से खर्चा किया है। लेकिन आपके पास तय सीमा तक पैसे चुकाने के लिए रकम नहीं है। ऐसे समय में आप दूसरे क्रेडिट कार्ड से बैलेंस ट्रांसफर कर बिल चुका सकते हैं। हालांकि आपको ऐसा करने पर कुछ बिल चुकाना पड़ सकता है।

अगर आप ई कॉमर्स वेबसाइट से ज्यादा खरीदारी करते हैं तो आपके पास ज्यादा विकल्प होते हैं। अलग अलग वेबसाइट या प्रोडक्ट अलग अलग क्रेडिट कार्ड पर ही डिस्काउंट या फिर कैशबैक जैसे कई ऑफर देते हैं। आपके पास ज्यादा क्रेडिट कार्ड होते हैं तो उन ऑफर्स को ज्यादा से ज्यादा चुनने का विकल्प मिल जाता है और ज्यादा डिस्काउंट हासिल करना आसान होता है।

ज्यादा क्रेडिट कार्ड रखने से लिमिट भी बढ़ जाती है। एक नौकरीपेशा व्यक्ति को आमतौर पर एक कार्ड पर एक लाख रूपये तक खर्च करने की लिमिट मिलती है। जबकि क्रेडिट कार्ड की संख्या पर कोई लिमिट नहीं है। आप जितने कार्ड रखेंगे आपकी खर्च की लिमिट भी उतनी ही ज्यादा होगी। मसलन आपके पास पांच कार्ड होंगे तो हर कार्ड पर एक लाख रूपये की लिमिट मिल सकती है।

आप ज्यादा क्रेडिट कार्ड रखकर अपना क्रेडिट स्कोर भी सुधार सकते हैं। एक कार्ड के भुगतान के समय आपका हाथ तंग हुआ तो आप दूसरे कार्ड के जरिए भुगतान कर सकते हैं। समय पर पैसा जमा करने से आपका क्रेडिट स्कोर हमेशा अच्छा रहेगा।

ज्यादा Credit Cards के नुकसान

  • आप किश्त जमा करने के जाल में बुरी तरह उलझ सकते हैं। अगर आपका हिसाब ठीक नहीं रहा तो हो सकता है कि आप ईएमआई की तारीखों में उलझते चले जाएं। हो सकता है किश्त बनवाते समय आपको लगे कि आप आसानी से चुका सकेंगे। पर ऐसा नहीं हो सका तो आप पर बोझ बढ़ता जाएगा।
  • आपका हाथ खर्चा करने में खुला हुआ है तो इसका सीधा अर्थ है कि ज्यादा कार्ड यानी कि ज्यादा शॉपिंग। ऐसा करने से आप पर कर्ज का बोझ हमेशा बढ़ता ही जाएगा।
  • अगर आपके कार्ड पर फीस भी लगती है तो आपको अलग अलग कार्ड रखने पर ज्यादा फीस चुकानी होगी।

इस तरह करें क्रेडिट कार्ड का उपयोग

  • क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो उसकी पेमेंट की तारीख का भी ध्यान रखें ताकि आप अतिरिक्त बोझ से बच सकें।
  • एक से ज्यादा क्रेडिट कार्ड रखने भी हैं तो उनकी संख्या दो से तीन तक सीमित कर दें। इससे ज्यादा क्रेडिट कार्ड रख कर आप उनके हिसाब किताब में उलझ कर रह सकते हैं।
  • वो क्रेडिट कार्ड लें जो लाइफटाइम के लिए फ्री हो। कोई सालाना फीस नहीं होगी तो आपका एक टेंशन कम होगा।

 


About Author
Avatar

Ayushi Jain

मुझे यह कहने की ज़रूरत नहीं है कि अपने आसपास की चीज़ों, घटनाओं और लोगों के बारे में ताज़ा जानकारी रखना मनुष्य का सहज स्वभाव है। उसमें जिज्ञासा का भाव बहुत प्रबल होता है। यही जिज्ञासा समाचार और व्यापक अर्थ में पत्रकारिता का मूल तत्त्व है। मुझे गर्व है मैं एक पत्रकार हूं। मैं पत्रकारिता में 4 वर्षों से सक्रिय हूं। मुझे डिजिटल मीडिया से लेकर प्रिंट मीडिया तक का अनुभव है। मैं कॉपी राइटिंग, वेब कंटेंट राइटिंग, कंटेंट क्यूरेशन, और कॉपी टाइपिंग में कुशल हूं। मैं वास्तविक समय की खबरों को कवर करने और उन्हें प्रस्तुत करने में उत्कृष्ट। मैं दैनिक अपडेट, मनोरंजन और जीवनशैली से संबंधित विभिन्न विषयों पर लिखना जानती हूं। मैने माखनलाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी से बीएससी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में ग्रेजुएशन किया है। वहीं पोस्ट ग्रेजुएशन एमए विज्ञापन और जनसंपर्क में किया है।

Other Latest News