कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर, वित्त विभाग ने जारी की अधिसूचना, वेतन बढ़कर होंगे 38100 रुपए, अक्टूबर में भुगतान

अब सीएम की घोषणा के बाद नए वेतन आयोग के तहत नियम में संशोधन किया गया।

cpc

शिमला, डेस्क रिपोर्ट। त्योहार से पहले एक बार फिर से 6th pay commission कर्मचारियों (Employees) को बड़ी राहत दी गई है। छठे वेतनमान के तहत कर्मचारियों के वेतन में वृद्धि (salary hike) के लिए नियम में संशोधन किए गए हैं। दरअसल मंगलवार को वित्त विभाग (finance department) में जूनियर ऑफिस असिस्टेंट की भर्ती नियम में संशोधन किया। 2017 में पहली बार बनाए गए इस नियम में संशोधन करने के साथ ही अब ऑफिस असिस्टेंट को भी समान वेतन का भुगतान किया जाएगा।  इसके लिए सीएम द्वारा बड़ी घोषणा की गई थी। वहीं इसके लिए अधिसूचना भी जारी की गई थी। अब ऑफिस असिस्टेंट आईटी को लेवल 10 के मुताबिक 38100 का भुगतान किया जाएगा।

2017 में बनाए गए जूनियर ऑफिस असिस्टेंट आईटी के भर्ती नियम में संशोधन करने के साथ जूनियर ऑफिस असिस्टेंट आईटी को 5 साल की नियमित सेवा पूरी करने के लेवल 10 के वेतन निर्धारित किए गए हैं जबकि क्लर्क को इस अवधि में लेवल 7 के वेतन 28900 प्राप्त होंगे। क्लर्क द्वारा वेतन विसंगति का विरोध किया जा रहा है और जल्द से जल्द इसमें सुधार की मांग की जा रही है।

Read More :PFI देश के लिए खतरा, इसलिए प्रतिबंध लगाया : डॉ नरोत्तम मिश्रा

जूनियर ऑफिस असिस्टेंट के लिए सबसे पहले भर्ती नियम 2017 में तय किए गए थे। अब सीएम की घोषणा के बाद नए वेतन आयोग के तहत नियम में संशोधन किया गया। जिसके तहत एलडीआर कोटा 20% तय किया गया है। वहीं वित्त विभाग द्वारा अधिसूचना जारी कर दी गई है।

वित्त विभाग द्वारा जूनियर ऑफिस असिस्टेंट आईटी क्लास 3 के भर्ती नियम दो में संशोधन किया गया है। मंगलवार को इसकी अधिसूचना जारी की गई है। जिसके मुताबिक जूनियर ऑफिस असिस्टेंट आईटी के अनुबंध पर पहले वेतन 12360 होंगे। वही लेवल 4 पे मैट्रिक्स पर 60 फीसद तय किया गया है। इन पदों को भरने के लिए 70 फीसद रिक्रूमेंट सीधी भर्ती से की जाएगी जबकि 20 फीसद रेगुलर कर्मचारी रिक्रूटमेंट क्लास के तहत जबकि 10% पद प्रमोशन के जरिए भरे जाएंगे।

वित्त विभाग की अधिसूचना जारी होने के बाद बिजली बोर्ड द्वारा भी इस नियम को अपनाया गया हैv इस संबंध में पे फिक्सेशन के फार्मूला के अनुसार 13 सितंबर को अधिसूचना जारी की गई थी। क्लर्क भी राज्य सरकार से 5 साल की नियमित पूरी होने के बाद लेवल 7 के बजाय लेवल 10 पर ही वेतन फिक्स करने की मांग कर रहे हैं। कलर्क की मांग है कि उन्हें भी जूनियर ऑफिस असिस्टेंट के बराबर ही वेतन का भुगतान किया जाए।