लोकतंत्र पर सवाल उठाने वाले ADM साहब की छुट्टी, गृह मंत्री नरोत्तम का बड़ा बयान

प्रतिष्ठित पद पर रहते हुए लोकतंत्र पर सवाल खड़े करने के बाद अब उन पर कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू की गई है।

SHIVPURI ADM VIDEO VIRAL

शिवपुरी, डेस्क रिपोर्ट। लोकतांत्रिक देश में रहकर लोकतंत्र (Democracy)  पर सवाल खड़े करने वाली शिवपुरी एडीएम (Shivpuri ADM) के खिलाफ कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू हो गई है। शिवपुरी एडीएम और उप जिला निरीक्षक उमेश प्रकाश शुक्ला (Umesh Prakash Shukla) के वीडियो वायरल (Video viral) होने के बाद उन्हें शो कॉज नोटिस (show cause notice) जारी किया गया है। इतना ही नहीं चुनाव आयोग (Election commission) ने उन्हें पद से हटाने की अनुमति दे दी है।

जानकारी की माने तो चुनाव आयोग की अनुमति मिलने के बाद आज शिवपुरी एडीएम और उप जिला निर्वाचन अधिकारी उमेश प्रकाश शुक्ला को पद से हटाया जाएगा। दरअसल नगर निकाय चुनाव के अंतिम चरण के चुनाव में वोटिंग के बीच शिवपुरी के एडीएम का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा था। इंटरनेट पर वायरल वीडियो में उमेश प्रकाश शुक्ला चुनाव और लोकतंत्र पर सवाल खड़े करते नजर आ रहे थे।

दरअसल इस मामले में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि डीएम साहब का बयान पूरी तरह से अलोकतांत्रिक है और संविधान के अनुरूप बयान ना होने की वजह से उन पर कार्रवाई की जाएगी। इसे सरकार ने गंभीरता से लिया था और उन्हें शो कॉज नोटिस थमाया था। जिसके बाद चुनाव आयोग की अनुमति मिलने के बाद आज उन्हे पद से हटाया जाएगा।

Read More : Saavan 2022 : उज्जैन हुआ महाकालमयी, सावन के पहले दिन हर हर महादेव से सजा महाकाल का दरबार

प्रतिष्ठित पद पर रहते हुए लोकतंत्र पर सवाल खड़े करने के बाद अब उन पर कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू की गई है। दरअसल उप निर्वाचन अधिकारी अपर कलेक्टर उमेश शुक्ला ने वायरल वीडियो में कहा था कि वोट डालना सबसे बड़ी गलती है।एडीएम उमेश शुक्ला यहीं नहीं रुके। उन्होंने कहा था कि हमने अपने वोट डालकर अब तक क्या किया है। कितने भ्रष्ट नेता पैदा किए हैं, वोट डालना गलती है, लोकतंत्र हमारे देश की सबसे बड़ी गलती है।

सोमवार को वायरल हुए इस वीडियो को एडीएम के केबिन का बताया जा रहा है जबकि निर्दलीय प्रत्याशी शासकीय मतपत्र कम होने की मांग पदाधिकारी के पास पहुंचे थे। हालाकि सोशल मीडिया पर तेजी से वीडियो वायरल होने के बाद अब एडीएम द्वारा लोकतंत्र और एक चुनावी प्रक्रिया पर सवाल खड़े करना और अमर्यादित बयान देना उन्हें भारी पड़ने वाला है और शिवपुरी के एडीएम साहब की जल्दी छुट्टी निश्चित है।