CBSE

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने कक्षा 10वीं के रिजल्ट में बदलाव किया है। अब कक्षा 10वीं का रिजल्ट जून नहीं बल्कि जुलाई में जारी किया जाएगा। इससे पहले सीबीएसई का 10वीं बोर्ड का रिजल्ट 20 जून को जारी किए जाने की घोषणा की गई थी, लेकिन बदले हुए शेड्यूल के तहत अब नतीजे जुलाई के पहले सप्ताह में जारी किए जाएंगे।

यह भी पढ़े.. 25 जिलों में 10% से कम पॉजिटिविटी, सीएम शिवराज सिंह बोले-एग्रेसिव स्ट्रेटेजी अपनाएं

CBSE बोर्ड ने सभी स्कूलों को मार्क्स अपलोड करने के लिए 2 तारीख दी थी। 18 मई को सीबीएसई द्वारा आधिकारिक वेबसाइट पर अधिसूचना जारी कर सभी को आंतरिक मूल्यांकन के 20 अंक और मूल्यांकन कमेटी द्वारा 80 में से तय किए जाने वाले अंकों को अब 30 जून तक अपलोड करने के निर्देश दिए थे, इसमें अब बदलाव किया गया है।इसके अलावा छात्रों के स्कोर की गणना करने के लिए एक नई स्कीम तैयार की गई है। इसी स्कीम के अनुसार रिजल्ट जारी किया जाएगा।

नए शेड्यूल के अनुसार, सीबीएसई (CBSE) पोर्टल पर 20 मई 2021 से मार्क्स अपलोड किए जाएंगे और सभी स्कूल 30 जून तक मार्क्स सबमिट कर सकते हैं। इसमें इंटरनल असिस्मेंट के अंक जमा करने की तारीख 30 जून 2021 है, ये मार्क्स 20 में से दिए जाएंगे। छात्रों को इंटरनल असेसमेंट के तौर पर प्रत्येक सब्जेक्ट के कुल 100 अंकों में से अधिकतम 20 अंक दिए जाएंगे।प्रत्येक विषय में 100 में 80 अंक मिड टर्म, प्री बोर्ड और यूनिट टेस्ट आदि परीक्षाओं के आधार दिए जाएंगे। यूनिट टेस्ट के लिए 10 अंक, मिड टर्म के लिए 30 अंक और प्री बोर्ड परीक्षा के लिए 40 अंक निर्धारित किए गए हैं।

यह भी पढ़े.. Dogecoin के बाद अब धूम मचाने आ रही फेसबुक की Cryptocurrency Diem, जानें कैसे करें निवेश

इसके साथ ही जो छात्र इस रिजल्ट से संतुष्ट नहीं होंगे उन्हें स्थिति सामान्य होने के बाद एक बार परीक्षा में बैठने का मौका दिया जाएगा। स्कूल में रिजल्ट तैयार करने के लिए स्कूल प्रिंसिपल और 7 शिक्षकों की एक रिजल्ट समिति बनेगी। इसमें दो शिक्षक दूसरे स्कूल से होंगे। रिजल्ट समिति में शामिल होने वाले दूसरे स्कूल के शिक्षकों को 2500-2500 रुपए और अपने स्कूल के शिक्षकों को 1500-1500 रुपए सीबीएसई बोर्ड की ओर से दिए जाएंगे।

गौरतलब है कि हर साल CBSE 10वीं की परीक्षा में करीब 18 लाख छात्र-छात्राएं बैठते है, लेकिन इस बार नई नीति के तहत रिजल्ट तैयार किया जा रहा है। पिछले साल भी कुछ पेपर रद्द हुए जिसके बाद इंटरनल असेसमेंट की मदद से रिजल्ट तैयार किया गया था। 2020 में सीबीएसई 10 में 91.46 फीसदी छात्र सफल हुए थे।उम्मीद है कि इस बार भी परिणाम बेहतर होंगे।

CBSE