मध्यप्रदेश में फिर बढ़े कोरोना के केस, हाई लेवल मीटिंग में CM Shivraj का बड़ा फैसला

सीएम शिवराज ने अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि कहीं भी अनावश्यक भीड़ एकत्रित ना हो, यह सुनिश्चित किया जाए।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट मध्यप्रदेश में कोरोना (MP Corona) के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। आज मंगलवार को 42 ने पॉजिटिव मरीजों की पुष्टि हुई है। इसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj singh chouhan) ने Corona की समीक्षा के लिए हाई लेवल मीटिंग (High-Level Meeting) बुलाई थी। हालांकि मीटिंग में बड़ा फैसला लिया गया है। दरअसल CM Shivraj ने कहा कि फिलहाल प्रदेश में कोरोना की स्थिति देखते हुए कोई प्रतिबंध नहीं लगाया जाएगा।

अधिकारी को बैठक में मंगलवार को सीएम शिवराज ने कहा कि प्रदेश में आर्थिक गतिविधियां जारी रहेगी। इसके साथ-साथ अन्य सभी कार्यक्रम भी यथावत चलेंगे। हालांकि सीएम शिवराज ने अधिकारियों को भीड़ पर अंकुश लगाने और Corona गाइडलाइन का पालन करवाने के निर्देश दिए हैं।

सीएम शिवराज ने निर्देश दिए कि कोरोना संक्रमित हो के लिए आइसोलेशन और उपचार के समुचित प्रबंध किए जाएं। इसके अलावा फेस मास्क के उपयोग रोको टोको अभियान को निरंतर जारी रखा जाएगा विवाह अथवा अन्य समारोह में व्यक्तियों के बीच परस्पर दूरी का अवश्य ध्यान रखा जाए साथ ही विद्यालय में विद्यार्थी की 50% क्षमता के साथ व्यवस्था जारी रहेगी।

सीएम ने कहा कि प्रदेश में 3 जनवरी से 15 से 18 वर्ष आयु वर्ग के किशोरों का टीकाकरण होगा। इसे अभियान के रूप में संचालित किया जाएगा। विद्यालयों को वैक्सीनेशन केंद्र बनाए जाएंगे, ड्रॉपआउट बच्चों को भी वैक्सीनेशन का लाभ दिया जाएगा। वही फ्रंटलाइन वर्कर्स हेल्थ वर्कर्स और 60 वर्ष से अधिक आयु के गंभीर रोगों से प्रभावित लोगों के लिए तीसरे Dose के कार्य को पूरी प्राथमिकता दी जाएगी वैक्सीनेशन के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं और मैपिंग का कार्य पूरी क्षमता से करने के निर्देश दिए गए हैं साथ ही प्रदेश में 60000 टेस्ट औसतन रोजाना हो और यह व्यवस्था कायम रखने के भी निर्देश दिए गए हैं।

सीएम ने कहा कि नागरिक स्वास्थ्य समस्या होने पर नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में जाकर परामर्श प्राप्त करें और अपना कोरोना टेस्ट भी कराएं। प्रतिदिन कोरोना नियंत्रण की बारीकी से समीक्षा की जाएगी।

Read More : New Rules in 2022: 1 जनवरी से बदलने वाले हैं ये प्रमुख नियम. आमजन के लिए जानना जरूरी

CM शिवराज ने कहा कि अभी फिलहाल प्रदेश में चिंता की कोई बात नहीं है। नए वेरिएंट की पुष्टि के बाद भी प्रदेश में फिलहाल सब व्यवस्थित है। हालांकि उन्होंने सभी लोगों से मास्क लगाने और सामाजिक दूरी का पालन करने का अनुरोध किया। सीएम शिवराज ने कहा कि 15 से 18 वर्ष के बच्चों को वैक्सीनेशन देने का कार्यक्रम जल्द शुरू किया जाएगा। इसके साथ ही बुजुर्गों के टीकाकरण को भी गति दी जाएगी। प्रदेश में 3 जनवरी से 15 से 18 आयु वर्ग के किशोरों का टीकाकरण शुरू हो रहा है। सीएम शिवराज ने इसे टीकाकरण अभियान के रूप में संचालित करने के निर्देश दिए।

सीएम शिवराज ने Corona की दूसरी Dose लगाने की भी अपील की। उन्होंने कहा कि जिन्होंने अब तक Corona की दूसरी Dose नहीं ली है। उन्हें जल्द से जल्द वैक्सीनेशन की प्रक्रिया पूरी करनी चाहिए। खुद को स्वस्थ रखने का तरीका Corona गाइडलाइन का पालन करना और साथ ही साथ वैक्सीनेशन प्रक्रिया को पूरा करना है। सीएम शिवराज ने अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि कहीं भी अनावश्यक भीड़ एकत्रित ना हो, यह सुनिश्चित किया जाए। इसके साथ ही साथ सतर्कता बरतनी जरूरी है।

बात दें कि फ़िलहाल राजधानी भोपाल में 75 तो इंदौर में 143 सक्रिय केस हैं। प्रदेश में 7 लाख 93 हजार 761 कोरोना संक्रमित हो चुके है। इनमें से 7 लाख 82 हजार 943 लोग स्वस्थ हो वापस अपने घर जा चुके है। वहीं, कोरोना के कारण 10 हजार 533 की जान जा चुकी है।वर्तमान में मध्य प्रदेश में कुल 285 एक्टिव केस है। इधर राज्य शासन की तरफ से प्रदेश में कोरोना केसों में कमी के लिए नाईट कर्फ्यू लगा दिया गया हैं