त्योहार से पहले मिली सौगात, राज्य सरकार की बड़ी घोषणा, इन कर्मचारियों के वेतन में होगा बंपर उछाल

सरकार ने पुजारियों और मंदिर कर्मचारियों को भी छठे वेतन आयोग (6th pay commission) के तहत सैलरी उपलब्ध कराने की घोषणा की है।

बेंगलुरु, डेस्क रिपोर्ट। केंद्र (Modi Government) द्वारा 7th pay commission DA वृद्धि (DA Hike) और पेंशनरों (pensioners) को बड़ी राहत देने के बाद कई राज्य सरकारों द्वारा अपने-अपने राज्यों के सरकारी और निजी कर्मचारियों (private employees) के लिए बड़े ऐलान किए गए थे। इस दौरान केंद्र से लेकर राज्य सरकार द्वारा रेलवे (railway employees) सहित बैंक कर्मचारियों (bank employees) को भी सैलरी सहित अन्य बोनस का इजाफा दिया गया था। इसी बीच कर्नाटक सरकार ने बड़ा फैसला लिया है।

दरअसल कर्नाटक सरकार ने पुजारियों और मंदिर कर्मचारियों को भी छठे वेतन आयोग (6th pay commission) के तहत सैलरी उपलब्ध कराने की घोषणा की है। इससे त्योहार से पहले मंदिरों के पुजारियों को बड़ा लाभ मिलेगा। मुजराई, हज और वक्फ मंत्री शशिकला जोले ने कहा कि छठे वेतन आयोग की सिफारिशों से मुजराई विभाग के पुजारियों और अन्य कर्मचारियों को फायदा होगा।

Read More: MP Corona Update: कोरोना की रफ्तार तेज, 15 दिन में 150 पॉजिटिव, एक्टिव केस 135

यहां पत्रकारों से बात करते हुए शशिकला जोले ने कहा कि मुजराई पुजारियों और कर्मचारियों को भी एक नए स्वास्थ्य बीमा कवर के तहत लाया जाएगा। जिससे 37,000 कर्मचारियों को लाभ होगा। यह देखते हुए कि मुजराई कर्मचारियों के लिए छठे वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू करने की लगातार मांग थी। उन्होंने कहा कि कार्यान्वयन पर सरकार को अतिरिक्त 20 करोड़ रुपये खर्च होंगे। जो विभाग के तहत आने वाले मंदिरों के राजस्व से प्राप्त होंगे।

विभाग ने आईडीएमएस (एकीकृत विकास प्रबंधन प्रणाली) शुरू करने की योजना बनाई है जिसमें मंदिरों की संपत्तियों, रूट मैप, सेवा सेवाओं आदि के बारे में पूरी जानकारी शामिल है। जोले ने आगे कहा कि सभी मुजराई मंदिरों को विजयादशमी के अवसर पर 15 अक्टूबर को विशेष पूजा करने के लिए एक परिपत्र जारी किया गया है, ताकि बच्चों के स्वास्थ्य और लोगों की भलाई के लिए प्रार्थना की जा सके। रिपोर्टों में घातक कोरोना ​​​​की तीसरी लहर के संभावित प्रकोप का सुझाव दिया गया था, जिसपर ये निर्णय लिया गया है।