Electricity: ऊर्जा मंत्री के सीढ़ी चढ़ने का दिखा असर, बिजली उपभोक्ताओं को मिली राहत

ऊर्जा मंत्री द्वारा विभागीय अधिकारियों और कर्मचारियों को इस संबंध में बिजली उपभोक्ताओं (Electricity consumers) की समस्याओं के संबंध में संवेदनशीलता बरतने के लिए प्रेरित किया गया।

ऊर्जा मंत्री

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के बिजली उपभोक्ताओं (Electricity Consumers) को बड़ी राहत मिली है। ऊर्जा मंत्री  प्रद्युम्न सिंह तोमर  (Energy Minister Pradyuman Singh Tomar) के सीढ़ी चढ़ने का असर दिखा है।इसका परिणाम यह हुआ कि प्रतिदिन लगभग 3229 शिकायतें कम आई है। पूरे मध्य प्रदेश में 1 से 18 जून तक विद्युत प्रदाय संबंधी 15 हजार 725 शिकायतें प्राप्त हुईं जबकि 19 से 30 जून 2021 तक की अवधि में 12 हजार 496 शिकायतें मिलीं। इस तरह से शिकायतों में लगभग 20% की कमी आई है।

यह भी पढ़े.. Electricity Bill: बिजली उपभोक्ताओं को बड़ी राहत, अब नहीं होना पड़ेगा परेशान

दरअसल, ऊर्जा मंत्री  प्रद्युम्न सिंह तोमर द्वारा समय-समय पर किये गए दौरों के दौरान उन्हें यह देखने में आया कि विद्युत मेंटेनेंस के कार्यों में धरातल पर कोताही बरती जा रही है। इस स्थिति में आमूलचूल परिवर्तन करने तथा आम जनों की शिकायतों को दूर करने के लिए ऊर्जा मंत्री द्वारा लापरवाही को दूर करने और विभागीय अधिकारियों तथा कर्मचारियों को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से 18 जून को स्वयं सीढ़ी पर चढ़कर ट्रांसफार्मर के मेंटेनेंस का कार्य किया। इसका परिणाम यह हुआ कि प्रतिदिन लगभग 3229 शिकायतें कम आयीं।

ऊर्जा मंत्री द्वारा विभागीय अधिकारियों और कर्मचारियों को इस संबंध में बिजली उपभोक्ताओं (Electricity consumers) की समस्याओं के संबंध में संवेदनशीलता बरतने के लिए प्रेरित किया गया। तोमर द्वारा मेंटेनेंस व्यवस्था को दुरुस्त करने के उद्देश्य से आरंभ किए गए अभियान के सकारात्मक परिणाम आने प्रारंभ हो गए हैं। ऊर्जा विभाग के अधिकारियों तथा कर्मचारियों द्वारा अमले एवं संसाधनों की कमी के बावजूद भी दिन रात मेहनत कर मेंटेनेंस का कार्य पूरे लगन और निष्ठा के साथ किया जा रहा है।

यह भी पढ़े.. पीएम किसान सम्मान निधि: किसानों के लिए बड़ी खबर, जानें कब आएगी 9वीं किस्त

यह अभियान शुरू होने के पहले प्रतिदिन तीनों विद्युत वितरण कंपनियों (Electricity distribution companies) में औसतन 15 हजार 725 शिकायतें प्राप्त हो रही थी। अभियान आरंभ किए जाने के बाद अर्थात 19 जून के बाद शिकायतों की संख्या में प्रतिदिन 3229 की कमी देखने को मिली है। शिकायतों को और अधिक कम करने तथा उपभोक्ताओं एवं आम जनता को बार-बार कटौती एवं ट्रिपिंग से मुक्ति दिलाने के लिए यह अभियान निर्बाध रूप से चलता रहेगा।