MP News: लापरवाही पर पटवारी निलंबित, 32 कर्मचारियों को शोकॉज नोटिस, वेतनवृद्धि रोकी!

इन्दौर कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी मनीष सिंह के निर्देश पर विभिन्न विभागों के 9 शासकीय अधिकारी-कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए हैं।

MP NEWS

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (MP News) में अधिकारियों-कर्मचारियों (Employees-Officers) द्वारा शासकीय कामों में लापरवाही पर एक्शन का दौर जारी है।एक तरफ जहां नीमच में पटवारी को निलंबित (Suspended) किया गया है वही धार में सीएमओ, इंदौर में 9 कर्मचारियों और बालाघाट में 19 कर्मचारियों को नोटिस जारी किया गया है।इसके अलावा हरदा में 3 छात्रावास अधीक्षकों को वेतन वृद्धि का सूचना पत्र जारी किया गया है।

यह भी पढ़े.. मप्र के BJP के अल्पसंख्यक मोर्चा के जिलाध्यक्षों की घोषणा, यहां देखें लिस्ट

नीमच कलेक्टर  मयंक अग्रवाल द्वारा पटवारी हल्का नम्बर-9 जयसिहंपुरा के पटवारी संतोष चौबे को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया गया है। निलम्बन काल में उनका मुख्यालय तहसील कार्यालय जीरन रहेगा और उन्हें नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ता देय होगा। पटवारी हल्का नम्बर 9 जयसिहंपुरा का अतिरिक्त प्रभार पटवारी लोकेश मोड को सौंपा गया है।उल्लैखनीय है, कि लोकायुक्त टीम उज्जैन(Lokayukta Team Ujjain) द्वारा 18 दिसम्बर 2021 को पटवारी संतोष चौबे को तीस हजार रूपये रिश्वत लेते पकडे जाने पर एसडीएम नीमच (Neemuch SDM) के माध्यम से संतोष चौबे के निलम्बन के लिए प्रस्ताव कलेक्टर को प्राप्त हुआ है।

हरदा संभागीय उपायुक्त जनजातीय और अनुसूचित जाति विकास नर्मदापुरम संभाग  जेपी यादव ने हरदा जिले के 6 छात्रावासों का आकस्मिक निरीक्षण के दौरान अव्यवस्था पाए जाने पर नाराजगी प्रकट की।  यादव ने बताया कि बालक उत्कृष्ट छात्रावास टिमरनी के अधीक्षक शिवप्रसाद धुर्वे, रहटगांव बालक छात्रावास के अधीक्षक  राम कृष्ण चौहान की 2 वेतनवृद्धि तथा सीनियर आदिवासी बालक छात्रावास हरदा के अधीक्षक  बृजलाल चाकर्डे के विरुद्ध एक वेतन वृद्धि रोके जाने के लिए कारण बताओ सूचना पत्र जारी किये जारी जायेगा।

CMO कारण बताओ नोटिस जारी

धार पंचायत चुनाव-2021 अन्तर्गत मतदान केन्द्रों पर आवश्यक प्रबंध नहीं करने पर धार जिले की जनपद पंचायत नालछा की मुख्य कार्यपालन अधिकारी माया बारिया को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। उप जिला निर्वाचन अधिकारी रोशनी पाटीदार ने बताया कि अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत धार द्वारा व्यवस्थाओं का जायजा लेने के लिए जनपद पंचायत नालछा अन्तर्गत क्रमशः ग्राम पंचायत तलवाड़ा एवं ग्राम पंचायत बगड़ी के मतदान केन्द्रों का आकस्मिक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान इन मतदान केन्द्र में आवश्यक विद्युत व्यवस्था, मतदान केन्द्रों पर राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मतदान केन्द के बाहर प्रदर्शित की जाने वाली सामान्य जानकारी लिखी हुई नहीं पाई गई। उन्होंने बताया कि निर्वाचन संबंधी महत्वपूर्ण कार्य में उदासीनता एवं लापरवाही बरती गई।

9 सरकारी कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस

इन्दौर कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी मनीष सिंह के निर्देश पर विभिन्न विभागों के 9 शासकीय अधिकारी-कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए हैं। संयुक्त संचालक योजना एवं आर्थिक सांख्यिकी पीसी परस्ते ने बताया है कि 11 दिसंबर को आयोजित पंचायत निर्वाचन संबंधी प्रशिक्षण में ये सभी अधिकारी-कर्मचारी अनुपस्थित पाए गये थे। कारण बताओ नोटिस में कहा गया है कि संतोषजनक जवाब प्राप्त नहीं होने पर वैधानिक कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी।

बालाघाट में अनुपस्थित 19 कर्मचारियों को नोटिस

15 एवं 16 दिसंबर के प्रशिक्षण में अनुपस्थित रहे 19 कर्मचारियों टेमनी के उच्च श्रेणी शिक्षक सरवन लाल भरद्वाज, कुम्हारीकला के शिक्षक केशोराव कालबेले, नक्शी के शिक्षक विजय कुमार अमृतकर, परसवाड़ा के ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी गौतम पुसामे, कटंगी के मंडी निरीक्षक उत्तम प्रसाद नंदोनिया, कटंगी के सहायक शिक्षक रूपचंद बिसेन, वन विभाग के विजय कुमरे, कमलेश भिमटे, अजय कामड़े, प्रभाकर मर्सकोले, राकेश कुमार मेश्राम, शिवभान नागेश्वर, प्रदीप चौधरी, सुरेन्द्र चिचखेड़े, राजेन्द्र कुमार उईके, बिरसा के ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी डी पी मेरावी, मलाजखंड के शिक्षक नंदकिशोर घरडे, टेकाड़ी के शिक्षक डी पी पंचेश्वर, आबकारीटोला के शिक्षक अनंतराम अगासे को बालाघाट कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ गिरीश कुमार मिश्रा ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है कि क्यों न इस लापरवाही के लिए उनकी 3 वेतन वृद्धि रोकी जाये। इन कर्मचारियों को सात दिनों के भीतर अपना स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने कहा गया है।