भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। देशभर में Corona के Delta Plus वैरिएंट के केस मिलने से सरकार चिंता में आ गई है। अब तक कई राज्यों में Delta plus वैरिएंट के मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। वहीं मध्य प्रदेश में यह आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। भोपाल के संत हिरदाराम नगर में एक 30 वर्षीय युवक में इस varient की पुष्टि हुई है। जून महीने में युवक कोरोना से संक्रमित हो कर इलाज के लिए राजधानी के चिरायु में भर्ती हुआ था। जिसके बाद अब युवक में नए वेरिएंट की पुष्टि हुई है। बीते 10 दिनों में भोपाल में नए वेरिएंट का यह तीसरा मामला है। वहीं प्रदेश में अब तक आठ लोग कोरना के नए डेल्टा प्लस वेरियंट से संक्रमित हो चुके हैं और दो लोगों की मौत हो चुकी है।

भोपाल में होगी जांच

प्रदेश में बढ़ रहे डेल्टा प्लस वेरियंट के मामलों को लेकर मध्य प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि भोपाल में ही अब जिनोम सीक्वेंसिंग (Genome sequencing) जांच हो सकेगी, जिससे वायरस में आ रहे म्यूटेंट (mutant) की जांच रिपोर्ट 5 दिनों के अंदर ही मिल जाएगी। पूरी तरह से संज्ञान लिया जा रहा है और दृष्टि रखी जा रही है कि यह संक्रमण कहीं भी ना फैले। सारंग ने कहा कि भोपाल को लेकर आज अलग से एक बैठक कर जिन इलाकों में डेल्टा प्लस वेरिएंट (Delta plus varienT) के मरीज मिले हैं वहां पर और इंटेंसिव कांटेक्ट ट्रेसिंग भी करेंगे और यह सुनिश्चित करेंगे कि संक्रमण को ना बढ़ने दिया जाए।

Read More: पंजीयन विभाग ने प्रॉपर्टी रजिस्ट्री पर दी बड़ी राहत, 1 जुलाई से लागू होगी नई कलेक्टर गाइडलाइन!

मरीजों की कांटेक्ट ट्रेसिंग की जा रही

मंत्री सारंग (Vishwas sarang) ने कहा कि Delta plus वेरिएंट के 8 मामले सामने आए हैं। लगातार टेस्टिंग (testing) पर ध्यान दिया जा रहा है। दूसरी लहर (second wave) की पीक के समय जितने टेस्ट किए जा रहे थे।  आज भी उतने ही टेस्ट किए जा रहे हैं। इसी का परिणाम है कि NCDC द्वारा जो भी मध्यप्रदेश में डेल्टा प्लस वेरिएंट के केसेज आ रहे हैं। उसकी जानकारी मिल पा रही है और उसकी कांटेक्ट ट्रेसिंग करवाई जा रही है। सारंग ने बताया कि कांटेक्ट ट्रेसिंग में एक भी डेल्टा प्लस वेरिएंट का मरीज अभी तक नहीं मिला है।

राजधानी में यह तीसरा मामला :

बीते दिनों राजधानी भोपाल में एक महिला में Delta plus वैरिएंट की पुष्टि के बाद आज फिर प्रदेश में एक मरीज में इस वैरिएंट की पुष्टि हुई है। दरअसल राजधानी के बैरागढ़ निवासी 30 वर्षीय युवक की रिपोर्ट में कोरोना के डेल्टा प्लस वैरिएंट की पुष्टि की गई है। राजधानी भोपाल में मिला अब तक का यह तीसरा मामला है। वहीं प्रदेश में इस घातक वैरिएंट के कुल 8 मरीज सामने आ चुके हैं। हालांकि इनमें से 5 स्वस्थ हो चुके हैं जबकि 2 की मौत हो चुकी है।