UNESCO ने दुर्गा पूजा को घोषित किया सांस्कृतिक विरासत, पीएम मोदी ने कही ये बड़ी बात

एमपी के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने तंज कसते हुए कहा कि अब बुआ, बबुआ और दीदी को भी इसको स्वीकार कर लेना चाहिए।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक एवं सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को, UNESCO) ने बंगाल की दुर्गा पूजा (Durga Puja) को सांस्कृतिक विरासत का दर्जा दिया है। UNESCO ने ट्वीट कर इसकी जानकारी शेयर की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि ये प्रत्येक भारतवासी (Indian) के लिए गर्व का पल है।

UNESCO ने बंगाल (कोलकाता) की दुर्गा पूजा को बुधवार को एक ट्वीट कर जानकारी दी कि कोलकाता की दुर्गा पूजा को अभी अभी सांस्कृतिक विरासत (Intangible Heritage) की सूची में शामिल किया गया है , भारत को शुभकामनायें।

ये भी पढ़ें – UPSC CSE Mains Exam 2021: उम्मीदवारों के लिए राहत भरी खबर, एडमिट कार्ड जारी, यहां करें डाउनलोड

UNESCO द्वारा दुर्गा पूजा को सांस्कृतिक विरासत घोषित किये जाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ख़ुशी जताई है।  उन्होंने ट्वीट कर बधाई देते हुए कहा कि – ये प्रत्येक भारतवासी के लिए गर्व और ख़ुशी का पल है।

ये भी पढ़ें – विजय दिवस 2021 : 50 साल पहले आज ही के दिन भारत के जांबाजों ने पाकिस्तान को चटाई थी धूल

उधर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर कहा – यह घोषणा दुनिया भर में सनातन धर्म के सांस्कृतिक मूल्यों और लोकाचार की बढ़ती स्वीकार्यता को स्थापित करती है। वहीं मध्य प्रदेश के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि UNESCO ने दुर्गापूजा को सांस्कृतिक विरासत का दर्जा दिया है। जो देश के लिए गौरव का विषय है। उन्होंने अखिलेश यादव, मायावती और ममता बनर्जी पर तंज कसते हुए कहा कि अब बुआ, बबुआ और दीदी को भी इसको स्वीकार कर लेना चाहिए।

ये भी पढ़ें – शहीद को नमन : अंतिम यात्रा में भी देश का ध्यान