विजय दिवस 2021 : 50 साल पहले आज ही के दिन भारत के जांबाजों ने पाकिस्तान को चटाई थी धूल

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। विजय दिवस (Vijay diwas) यानि भारतीय सेना (Indian Army) के इतिहास के शौर्य का वो गौरवशाली दिन जिसे याद कर आज भी हर भारतवासी का सीना चौड़ा हो जाता है और सिर गर्व से ऊंचा हो जाता है। 50 साल पहले आज ही के दिन यानि 16 दिसंबर 1971 को भारत ने पाकिस्तानी सेना (Pakistani Army) को करारी शिकस्त देकर खदेड़ दिया था और 93 हजार पाकिस्तानी सैनिकों को सरेंडर के लिए मजबूर कर दिया था जिसके बाद एक नए देश बांग्लादेश (Bangladesh) का जन्म हुआ था।

93 हजार पाकिस्तानी सैनिकों ने किया था सरेंडर 

1971 का युद्ध भारत पर थोपा गया युद्ध था, वैसे ये युद्ध पाकिस्तान के पूर्वी और पश्चिमी हिस्से में चल रहा था लेकिन इस दौरान शातिर पाकिस्तान ने भारत पर भी हवाई हमले शुरू कर दिए थे। पाकिस्तान के नापाक इरादों को भांपकर  भारत ने 3 दिसंबर 1971 जवाबी हमले शुरू किये और फिर लगातार हमले करते हुए पाकिस्तानी सेना को घुटने टेकने को मजबूर कर दिया। 1971 के युद्ध का 16 दिसंबर का दिन ऐतिहासिक हो गया जब भारत के सामने पाकिस्तान  के 93 हजार सैनिकों के सरेंडर के साथ इस युद्ध पर विजय प्राप्त की और एक नए देश बांग्लादेश का जन्म हुआ।

ये भी पढ़ें – MP Corona: कोरोना की रफ्तार तेज, आज मिले 18 पॉजिटिव, इंदौर-भोपाल में बढ़े केस

आधी रात को प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने कही थी ये बात 

युद्ध के दरमियान तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने आधी रात को देश के लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा था ” मैं आपसे ऐसे समय बात बात कर रही हूँ जब देश और हमारे लोग एक बड़ी आपदा से गुजर रहे हैं।  पाकिस्तान ने हमारे खिलाफ पूर्ण युद्ध की घोषणा  कर दी है।  पाकिस्तानी एयरफोर्स और थल सेना लगातार हमले गोली बारी कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें – Gold Silver Rate : सोना लुढ़का, चांदी में आई चमक, ये हैं ताजा रेट

इंदिरा गांधी ने कहा कि आज बांग्लादेश में चल रहा युद्ध भारत का युद्ध बन गया है यह युद्ध मुझ पर , मेरी सरकार पर और मेरे देश के लोगों पर थोपा गया है। ऐसे में हमारे पास देश को युद्ध में ले जाने के अलावा कोई विकल्प नहीं है।  हमारे बहादुर अफसर और सैनिक चौकियों पर तैनात हैं और आगे बढ़ रहे हैं।  पूरे देश में आपातकाल घोषित किया जाता है।

ये भी पढ़ें – MP Panchayat Election : पंचायत चुनाव पर आई बड़ी अपडेट, कोर्ट का महत्वपूर्ण फैसला

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विजय दिवस के मौके पर राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पहुंचकर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की।  उधर गृह मंत्री अमित शाह ने भी ट्वीट कर पाकिस्तान को धूल चटाने वाले भारत के जांबाजों को याद किया। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान विजय दिवस के मौके पर 1971 युद्ध के शहीदों को श्रद्धांजलि दी।