बेसन नहीं अबकी बार ट्राई करें बाजरे और आलू के पकौड़े, सर्दी के लिए है बेहद स्वस्थ आहार

बाजरा एक ग्लूटन फ्री डाइट (Free Diet) है, जो आसानी से हजम होती है।

लाइफस्टाइल, डेस्क रिपोर्ट। इस सर्दी (Winter Healthy Diet) के तहत अगर आपका गर्मागर्म भजिए खाने का मन करे तो कुछ हेल्दी ऑप्शन (Healthy option) चुनें। आमतौर पर भजिए में बेसन (Besan) का इस्तेमाल होता है। बेसन की जगह बाजरे (millet) का उपयोग करके देखें। बाजरा एक ग्लूटन फ्री डाइट (Free Diet) है, जो आसानी से हजम होती है। डाइजेशन (Digestion) भी ठीक रखती है और इसमें फाइबर्स भी भरपूर होते हैं।

बाजरा वेट लॉस (Weight loss) के लिए भी फायदेमंद है। इसे खाने के बाद जल्दी भूख भी नहीं लगती। जिस वजह से ये ओवरईटिंग या ज्यादा खाने की आदत को भी खत्म करता है। बाजरे की रोटी जितनी स्वादिष्ट लगती है। इसका भजिए भी उतने ही मजेदार बनते हैं।

Read More : अब नहीं चलेगी ओला ड्राइवर की मनमानी, एक क्लिक पर मिलेगी कैब, आप ही की मर्जी से होगी कैंसिल

चलिए जानते हैं क्या है भजिए बनाने की सामग्री और विधि :-

सामग्री

बाजरे और आलू के भजिए बनाने के लिए आप को जरूरत होगी आलुओं की, बाजरे का आटा, हरी धनिया, हरी मिर्च, बारीक कटा अदरक, भजिए तलने के लिए तेल और नमक.

पकौड़े बनाने की विधि

बाजरे के आटे का घोल उतना ही गाढ़ा बनाए। जितना गाढ़ा बेसन के भजिए के लिए तैयार होता है। आलुओं को छीलकर बराबर के आकार में काट लें। बाजरे के पेस्ट में हरा धनिया, हरी मिर्च, अदरक और नमक मिलाएं। इसमें आलू डालें और गर्म तेल में इसके पकौड़े तलते जाएं।  ये भजिए बनाते समय अगर ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल करेंगे तो ये हल्का भी पड़ेगा और टेस्टी भी होगा। चाहें तो हरी प्याज भी इसमें मिला लें, स्वाद में इजाफा होगा। इन भजियों को खाने के लिए हरी चटनी का डिप एक अच्छा ऑप्शन है।