अब नहीं चलेगी ओला ड्राइवर की मनमानी, एक क्लिक पर मिलेगी कैब, आप ही की मर्जी से होगी कैंसिल

एक ही क्लिक में कस्टमर्स कैब भी बुक करा सकेंगे और कैब ड्राइवर उनसे ज्यादा सवाल जवाब भी नहीं कर सकेंगे।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। अपनी राइड को कुछ आसान बनाने के लिए ओला ने नए कस्टमर फ्रेंडली फीचर शुरू किए हैं। जिसके तहत अब ओला के कस्टमर्स के लिए राइड बुक करना तो आसान होगा ही, उन्हें बार-बार कैब बुक करने के झंझटों से भी छुटकारा मिलेगा। ओला ने कुछ ऐसे फीचर शुरू किए हैं, जिसके एक ही क्लिक में कस्टमर्स कैब भी बुक करा सकेंगे और कैब ड्राइवर उनसे ज्यादा सवाल जवाब भी नहीं कर सकेंगे। पेमेंट और लोकेशन पर अब ड्राइवर्स ज्यादा बहस भी नहीं कर सकेंगे।

यह भी पढ़े…crypto currency: क्रिप्टो करेंसी से पेमेंट कर सकेंगे टेलीग्राम यूजर्स, ऐसा है नया फीचर

कैश पेमेंट की किचकिच खत्म

कैब का बहुत ही फ्रीक्वेंटली इस्तेमाल करने वाले कस्टमर्स की एक शिकायत होती है कि ड्राइवर अचानक कैब कैंसिल कर देते हैं। जिससे कस्टमर्स के समय की बरबादी होती है। ओला के लिए ये बात अक्सर होती रही है कि कैब बुक करने के बाद ड्राइवर ड्रॉप लोकेशन के साथ-साथ पेमेंट के तरीके पर भी बहुत ज्यादा बहस करते हैं। इतना ही नहीं अक्सर वो ये भी डिमांड करते हैं कि उन्हें कैश पेमेंट ही किया जाए।

यह भी पढ़े…whatsapp upcoming features: वॉट्सएप यूजर्स के लिए खुशखबरी, जल्द मिलेंगे 5 नए फीचर्स

पैंसेंजर पर पेनाल्टी

ड्राइवर से इस तरह की किचकिच का खामियाजा कस्टमर को ही भुगतना पड़ता है। या तो वो बार बार राइड बुक करते हैं और कभी खुद ही राइड कैंसिल भी करते हैं। जिस वजह से पैनल्टी भी उन्हें ही भुगतनी पड़ती है।

यह भी पढ़े… नशे में धुत भाजपा युवा मोर्चा के नेताओं ने पुलिसकर्मियों से की मारपीट, आरोपी गिरफ्तार

ओला सीईओ की साफगोई

ओला के प्रबंधन तक पैसेंजर्स की ये परेशानी पहुँच चुकी है। ओला सीईओ भाविश अग्रवाल ने ये माना कि ड्राइवर्स अक्सर कस्टमर को परेशान करते हैं। अग्रवाल के अनुसार पेमेंट मोड और लोकेशन की बात पर ड्राइवर खुद ही राइड कैंसिल कर देते हैं। ये इस बिजनेस की सबसे बड़ी समस्याओं में से एक है, यही वजह है कि अब इस मुश्किल से निपटने के लिए कंपनी ने एक नई शुरूआत की है।

यह भी पढ़े… पीरियड्स में इन चीजों का इस्तेमाल करें या न करें, जाने इनसे जुड़े मिथ्स और कुछ खास तथ्य

ओला के नए बदलाव

ओला ने ऐसे फीचर्स एड किए हैं कि कस्टमर की राइड एक्सेप्ट करने से पहले ही ड्राइवर को इस बात की जानकारी मिल जाएगी कि कस्टमर को कहां जाना है। साथ ही कस्टमर राइड के लिए उन्हें कैसे पे करने वाला है। इसके बाद ही ड्राइवर राइड एक्सेप्ट करेंगे। एक ड्राइवर के राइड एक्सेप्ट न करने के बाद ये ऑप्शन दूसरे ड्राइवर को दे दिया जाएगा। इस फीचर के बाद माना जा रहा है कि कस्टमर को लेना है या नहीं ये पहले ही तय हो जाएगा। जिससे कैब पहुंचने के बाद कस्टमर को बार बार की चिकचिक से छुट्टी मिल जाएगी। इसके बाद राइड करनी है या कैंसिल करनी है ये पूरी तरह से कस्टमर की मर्जी पर होगा।