उपचुनाव से पहले कांग्रेस का प्रशासन पर आरोप, पीड़ित परिवारों को 1-1 लाख रुपए देंगे कमलनाथ

जगदीश देवड़ा ने कांग्रेस के सौंपे ज्ञापन के बाद जांच की बात कही है।

kamalnath

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में कांग्रेस द्वारा लगातार अवैध शराब मामले में शिवराज सरकार को घेरा जाता रहा है। अब इस बार फिर से कांग्रेस ने प्रशासन के स्तर पर अवैध शराब के संरक्षण का आरोप लगाया है। बता दें कि प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (kamalnath) अवैध शराब (Illegal liquor) मामले में लगातार सरकार से बड़ी कार्रवाई की मांग करते रहते हैं। इसी बीच पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मृतकों के परिवार को 1–1 लाख रुपए मदद देने की घोषणा की है।

इस मामले में पूर्व मंत्री गोविंद सिंह ने पत्रकार वार्ता में कहा कि एक और शिवराज सरकार (shivraj government) प्रदेश में नशा मुक्त होने की बात कर रही है। जबकि दूसरी तरफ से अब तक अवैध शराब पीने से 70 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। अकेले मुरैना जिले की बात करें तो जहरीली शराब पीने से अब तक 28 लोगों की मौत हो गई। इसके बाद पीसीसी चीफ ने मृतकों के परिवार को आर्थिक सहायता की घोषणा की है।

Read More: सागर में ऑक्सीजन की कमी से चार मौतें, जानिए कितनी बड़ी लापरवाही!

वही कांग्रेस ने अवैध शराब से हो रही मौत को लेकर वाणिज्य कर मंत्री जगदीश देवड़ा (jagdish devda) से भी उनके निवास स्थान पर मुलाकात की। जिसके बाद गोविंद सिंह (govind singh) ने जगदीश देवड़ा को प्रदेश में अवैध शराब के फल फूल रहे कारोबार पर रोक लगाने की मांग की। वही उन्होंने जगदीश देवड़ा से अवैध शराब में पुलिस और आबकारी विभाग की मिलीभगत की बात की आशंका जताई है।

इधर जगदीश देवड़ा ने कांग्रेस के सौंपे ज्ञापन के बाद जांच की बात कही है। बता दें कि मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा लगातार मुहिम चलाकर जहरीली शराब पर अंकुश लगाया जा रहा है। अवैध शराब बिक्री मामले में रोक लगाए जाने से आरोपियों को पकड़ने के लिए नियम बनाए गए हैं। वहीं प्रदेश में अवैध शराब बिक्री ना हो। इसके लिए भी प्रावधान तैयार किए गए हैं।