सरकार बनने से पहले ही कांग्रेस ने तैयार किया ‘कर्जमाफी’ का ब्लूप्रिंट

-Before-the-formation-of-the-government-in-mp-Congress-prepared-the-debt-waiver-blueprint

भोपाल। विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को सरकार में वापसी का भरोसा है। यही वजह है कि चुनाव के नतीजे आने से पहले ही कांग्रेस ने मप्र के किसानों की कर्जमाफी का ब्लूप्रिंट तैयार कर लिया है। पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदंबरम के साथ मिलकर कांग्रेस के नेताओं दिल्ली में बैठक कर इस पर काम किया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की घोषणा अनुसार मप्र में कांग्रेस की सरकार बनने पर 10 दिन के भीतर किसानों का कर्ज माफ करना है।

सरकार बनते ही कांग्रेस का पहला काम कर्जमाफी की घोषणा पर अमल करना ही है। प्रदेश कांग्रेस के रणनीतिकारों ने कर्जमाफी का ब्लूप्रिंट तैयार करने से पहले मप्र सरकार की वित्तीय हालत का भी अध्ययन किया है। इसके लिए वित्त विभाग से कुछ आंकड़े भी लिए गए। प्रदेश पर वर्तमान में करीब पौने दो लाख करोड़ रुपए का कर्जा है। यदि कांग्रेस सरकार में आती है तब किसानों का कर्जमाफी बड़ी चुनौती होगी। कर्जमाफी के ब्लूप्रिंट से जुड़े सूत्रों ने बताया कि चूंकि निकट भविष्य में देश में लोकसभा चुनाव होना है, ऐसे में मप्र में किसानों की कर्जमाफी को पूरा करना कांग्रेस की प्राथमिकता में है। क्योंकि अभी तक भाजपा चुनावों में यह आरोप लगाती आ रही है कि पंजाब एवं कर्नाटक में कांग्रेस ने किसानों का कर्जा माफ नहीं किया। यही वजह है कि कांग्रेस लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखकर किसानों की कर्जमाफी करेगी। 

2 लाख तक का कर्जा होगा माफ

कर्जमाफी के ब्लूप्रिंट में 2 लाख तक का कर्जा माफ करने की योजना है। कर्जमाफी के दायरे में सहकारी और राष्ट्रीयकृत बैंक दोनों आएंगे। कर्जमाफी का फायदा ओवरड्यू और समय पर लेनदेन करने वाले किसानों को कर्ज खाते में वर्तमान कर्जराशि के आधार पर माफी मिलेगी। कर्जमाफी से राज्य पर करीब 60 हजार करोड़ रुपए का वित्तीय भर आएगा। कर्जमाफी के ब्लूप्रिंट में माफी के लिए राशि जुटाने का जरिया भी शामिल है। 

4 लोगों की टीम ने तैयार किया ब्लू प्रिंट

कर्जमाफी के ब्लूप्रिंट को 4 लोगों की टीम ने तैयार किया है। जिसमें पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम, पीसीसी अध्यक्ष कमलनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह एवं पूर्व आईएएस बीके बाथम शामिल हैं। चिदंबरम ने ब्लू प्रिंट को अंतिम रूप दिया है। सरकार बनते ही शपथ समारोह में कर्जमाफी की तिथि का ऐलान कर दिया जाएगा। इसके लिए भव्य आयोजन होगा,जिसमें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत देशभर से कांगे्रस एवं सहयोगी दलों के दिग्गज नेता जुटेंगे।