भोपाल : हाईटेक एनेक्सी की लिफ्ट हुई बंद, फंसे CM शिवराज, 2 अफसरों पर गिरी गाज

भोपाल के एनेक्सी बिल्डिंग (Annexe Building of Bhopal) में बीते सोमवार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) पहुंचे थे। जहां की लिफ्ट (lift) में सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) फंस गए, जिसके बाद दो अफसरों को सस्पेंड (Two officers suspended) कर दिया गया है।

शिवराज सरकार

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश मंत्रालय की हाईटेक एनेक्सी बिल्डिंग (MP Hitech Annexe Building of the Ministry) का निर्माण कार्य 2018 में तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) की सरकार में शुरू हुआ था। जिसका लोकार्पण 2018 में ही तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलनाथ (Former Chief Minister Kamal Nath) ने किया था। इसी एनेक्सी बिल्डिंग (Annexe Building) में बीते सोमवार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) पहुंचे थे। जहां की लिफ्ट (lift) में सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan trapped in lift) फंस गए, जिसके बाद दो अफसरों को सस्पेंड (Two officers suspended) कर दिया गया है।

ये है पूरा मामला

लिफ्ट के बंद होने और सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) के लिफ्ट (lift) में फंस जाने के बाद मेंटेनेंस में लापरवाही बरतने के कारण राजधानी परियोजना प्रशासन (Capital Project Administration) के दो इंजीनियर को सस्पेंड (Suspend two engineers) किया गया है। यह पूरा मामला बीते सोमवार का है। जहां मंत्रालय में सीएम शिवराज सिंह चौहान पहुंचे थे। वहां से वापस लौटते वक्त सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने लिफ्ट (lift) का प्रयोग किया, जो अचानक बंद हो गई। जिसकी खबर अधिकारियों को लगते कि उनके हाथ पैर सन्न रह गए। अधिकारियों ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए राजधानी परियोजना प्रशासन (Capital Project Administration) के दो इंजीनियरों को निलंबित (Two engineers suspend) कर दिया है।

ये भी पढ़े- Farmers Protest : विदेशी हस्तियों के ट्वीट पर छिड़ी बहस, शिवराज बोले- बाहरी हस्तक्षेप सहन नहीं करेंगे

राजधानी परियोजना प्रशासन के दो अधिकारियों पर गिरी गाज

इस संबंध में जिन अधिकारियों पर गाज गिरी है, उनमें पहला नाम राजधानी परियोजना प्रशासन के प्रभारी अनुविभागीय अधिकारी विद्युत यांत्रिकी शैलेंद्र परमार (Sub-Divisional Officer-in-Charge Electromechanical Shailendra Parmar) का है, वहीं दूसरा नाम राजधानी परियोजना प्रशासन के उपयंत्री विद्युत यांत्रिकी मनोज यादव (Subcontractor mechanics manoj yadav) का हैं। जिन्हें सस्पेंड कर दिया गया है। बता दें कि वल्लभ भवन एनेक्सी टू का निर्माण हाईटेक तरीके से हुआ है, जो राजधानी भोपाल में स्थित है। इसके निर्माण में करीब 600 करोड़ से भी ज्यादा का खर्च आया था।

लिफ्ट के मेंटेनेंस पर उठ रहे सवाल

इस हाईटेक एनेक्सी बिल्डिंग में 16 लिफ्ट की व्यवस्था है, जिससे अधिकारियों, मंत्रियों और आम लोगों का आना-जाना होता है। लेकिन सोमवार को जब सीएम शिवराज सिंह चौहान ने लिफ्ट का इस्तेमाल किया उस दिन लिफ्ट बंद हो गई। जिसके कारण प्रदेश के मुख्यमंत्री को परेशानी उठानी पड़ी। जिसके बाद से ही हाईटेक एनेक्सी बिल्डिंग में लगे लिफ्ट के मेंटेनेंस को लेकर कई सवाल खड़े हो रहे है।

ये भी पढ़े- रतलाम को मिलेगी 200 करोड़ से अधिक विकासकार्यों की सौगात, 4 फरवरी को सीएम करेंगे लोकार्पण

2018 में तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलनाथ ने था उद्घाटन

बता दें कि मंत्रालय की हाईटेक एनेक्सी बिल्डिंग का निर्माण शिवराज सरकार में ही शुरू हुआ था। जिसके बाद चुनाव में कांग्रेस की सरकार बन गई और इस बिल्डिंग का उद्घाटन 2018 में तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलनाथ ने किया। इस बिल्डिंग का निर्माण करीब 6 लाख वर्ग फीट में हुआ है। जिसमें धौलपुर के लाल पत्थरों का उपयोग हुआ है। इस बिल्डिंग के पांचवे फ्लोर पर मुख्यमंत्री का दफ्तर है, जो 40 हजार वर्ग फीट में फैला हुआ है।