नगरीय निकाय चुनाव : कांग्रेस का दावा- करारी हार की रिपोर्ट से डरी BJP

एमपी कांग्रेस (MP Congress) ने ट्वीट कर लिखा है कि नगरीय निकाय चुनाव स्थगित। बीजेपी(BJP) करारी हार की रिपोर्ट से डरी।

नगरीय निकाय चुनाव

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। नगरीय निकाय चुनाव (Urban Body Election और पंचायत चुनाव(Panchayat Election) 3 महिने तक टाले जाने के बाद मध्यप्रदेश की सियासत गर्मा गई है। कांग्रेस (Congress) सड़क से लेकर सोशल मीडिया (Social Media) तक मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) और बीजेपी पर हमले बोल रही है। इसी बीच एमपी कांग्रेस के एक दावे ने सियासी गलियारों में हलचल पैदा कर दी है, जिसमें करारी हार की रिपोर्ट से बीजेपी(BJP)  के डरने की बात कही गई है।

यह भी पढ़े…नगरीय निकाय चुनाव से पहले केन्द्र ने दी शिवराज सरकार को बड़ी राहत

दरअसल, एमपी कांग्रेस (MP Congress) ने ट्वीट कर लिखा है कि नगरीय निकाय चुनाव स्थगित। बीजेपी(BJP) करारी हार की रिपोर्ट से डरी। पैसे और प्रशासन का दुरूपयोग कर उपचुनाव(By-election) जीतने वाली बीजेपी को नगरीय निकाय चुनावों में करारी हार की रिपोर्ट ने चुनाव टालने पर मजबूर कर दिया। शिवराज जी, याद रखना ! उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है।“लोकतंत्र ख़तरे में है”।हालांकि यह रिपोर्ट किसने दी और किस आधार पर यह कांग्रेस ने नही बताया है।

अगले ट्वीट (Tweet) में कांग्रेस ने लिखा है कि नगरीय निकाय चुनाव 3 माह टले, सिर्फ़ बीजेपी के कार्यक्रम और शिवराज के भ्रष्टाचार जारी रहेंगे। नज़र बनाये रखिये, शिवराज की कुर्सी के तीनों पाँव हिल रहे हैं। यह पहला मौका नही है। इससे पहले भी कांग्रेस ने दावा किया था कि मध्यप्रदेश मे जल्द मुख्यमंत्री बदलने वाला है। अब देखना है कि कांग्रेस के दावों में कितना दम है या फिर उपचुनाव की तरह ये भी हवा हो जाएंगे।

यह भी पढ़े… SDO ने पटवारी को तत्काल प्रभाव से किया निलंबित, 3 और कर्मचारियों पर गिरी गाज, यह है मामला

बता दे कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए राज्य निर्वाचन आयोग (State Election Commission) ने नगरीय निकाय चुनाव (Urban Body Election और पंचायत चुनाव(Panchayat Election) 3 महिने तक टाल दिए है।  प्रदेश में कुल 407 नगरीय निकायों में से 307 का कार्यकाल 25 सितम्बर 2020 को समाप्त हो गया है। वही 8 नगरीय निकायों का कार्यकाल जनवरी एवं फरवरी 2021 में पूर्ण हो रहा है और त्रि स्तरीय पंचायतों में पंच, सरपंच, जनपद सदस्य एवं जिला पंचायत सदस्यों का कार्यकाल मार्च 2020 में समाप्त हो चुका है, ऐसे में फरवरी तक चुनाव टाल दिए गए है।अब फरवरी 2021 के बाद चुनाव कराये जाने पर फैसला किया जाएगा।