धार मॉब लिचिंग: कांग्रेस का खुलासा – इस BJP नेता ने किया था भीड़ का नेतृत्व

भोपाल।
धार मॉब लिचिंग की घटना को लेकर प्रदेश में जमकर सियासत गर्माई हुई है।आरोप-प्रत्यारोप का दौर तेजी से चल रहा है। नेताओं की बयानबाजी भी जोरों पर है। इसी बीच कांग्रेस ने धार की घटना के आरोपियों को लेकर बड़ा खुलासा किया है।मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने खुलासा किया है कि प्रदेश को तालिबान प्रदेश का बनाने का आरोप लगाने वाले भाजपा नेता यह सच्चाई जान लें कि धार के मनावर की इस घटना में प्रमुख आरोपी भाजपा के नेता रमेश जुनापानी है, जिन्होंने भीड़ का नेतृत्व किया, भीड़ को हिंसा के लिए उकसाया और पुलिस ने इस मामले में उन पर प्रकरण भी दर्ज किया और उन्हें गिरफ्तार भी किया जा चुका है।

सलूजा ने जारी बयान में कहा है कि मामला बेहद संवेदनशील विषय है और ऐसे मामलों पर राजनीति से निश्चित तौर पर बचना चाहिए, इन्हें राजनीतिक रंग भी नहीं देना चाहिए लेकिन भाजपा लगातार ऐसे संवेदनशील विषयों पर व ऐसी घटनाओं पर राजनीति कर रही है। चाहे सागर की घटना हो या छिंदवाड़ा की घटना हो, हर घटना पर झूठ परोस कर उसे राजनीतिक रंग देने का काम भाजपा कर रही है।आज भी प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सागर की घटना को लेकर कह रहे हैं कि एक दलित युवक की हत्या के आरोपी अभी तक पकड़े नहीं गये है, जबकि सच्चाई यह है कि सारे आरोपी पकड़े लिये गए हैं। छिंदवाड़ा की आदिवासी युवती को लेकर वे कह रहे हैं कि उसके साथ गैंगरेप हुआ, जबकि पोस्टमाॅर्टम रिर्पोट से लेकर एसआईटी जांच में कहीं भी बलात्कार की पुष्टि नहीं हुई है और अब कल धार की घटना को लेकर झूठ परोस रहे हैं कि पीड़ित पक्ष पुलिस को जानकारी देकर गए थे। जबकि सच्चाई यह है कि संबंधित थाने से लेकर पुलिस को कोई जानकारी नहीं दी गई। दूसरा आरोप लगा रहे हैं कि कांग्रेस प्रदेश को तालिबान प्रदेश बनाने में लगी है।

सलूजा ने बताया कि कांग्रेस ऐसे संवेदनशील मुद्दों पर को राजनीति का रंग नहीं देना चाहती है लेकिन जब भाजपा इस तरह के झूठे आरोप लगा रही है तो कांग्रेस को सच्चाई जनता तक बताना जरूरी हो जाता है। प्रदेश को तालिबान प्रदेश का बनाने का आरोप लगाने वाले भाजपा नेता यह सच्चाई जान लें कि धार के मनावर की इस घटना में प्रमुख आरोपी भाजपा के नेता रमेश जुनापानी है, जिन्होंने भीड़ का नेतृत्व किया, भीड़ को हिंसा के लिए उकसाया और पुलिस ने इस मामले में उन पर प्रकरण भी दर्ज किया और उन्हें गिरफ्तार भी किया जा चुका है। इसके पूर्व की बात करें तो मंदसौर के प्रह्लाद बंधवार हत्याकांड, बड़वानी के ताराचंद ठाकरे हत्याकांड में व रतलाम के हिम्मत पाटीदार हत्याकांड में भाजपा के नेताओं की असलियत सामने आ चुकी है और अब धार के इस कांड में भी जिस तरह से भाजपा नेता का नाम सामने आया है, उससे भाजपा को सच्चाई जान लेना चाहिए कि प्रदेश को तालिबान प्रदेश कौन बनाना चाहता है ? उसके बाद ही कांग्रेस पर इस तरह के झूठे आरोप लगाना चाहिए।