स्वास्थ मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने शुरू की यह नवीन पहल, मरीजों को मिलेगा लाभ

वहीं मरीजों की समस्याओं का निराकरण भी किया जाएगा।

MP

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) के स्वास्थ्य विभाग (health department) में सुधार लाने के लिए स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी (prabhuram chaudhary)  ने नई पहल की है। जिसके मुताबिक सप्ताह के पहले दिन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (video conferencing) के जरिए वह प्रदेश के किसी भी अस्पताल (hospital) के किसी भी मरीज से बातचीत करेंगे। इसके साथ ही वह अस्पताल की स्वास्थ्य व्यवस्था का जायजा लेंगे।

दरअसल शनिवार को स्वास्थ्य विभाग किस नई पहल की शुरुआत की गई। इस दौरान डॉ प्रभुराम चौधरी ने विदिशा और खंडवा (khandwa) अस्पताल में भर्ती मरीजों से चर्चा की और इलाज और व्यवस्थाओं का जायजा लिया। वहीं अस्पतालों में मरीजों से बात करते हुए उन्होंने स्वास्थ्य व्यवस्था की समीक्षा की और इस दौरान मरीजों को होने वाली दिक्कतों के बारे में भी जाना।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने बताया कि इलाज के दौरान और अस्पताल की व्यवस्था के लिए वह हर सोमवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मरीज से सीधा संवाद करेंगे। इस दौरान जहां डॉक्टर प्रभुराम चौधरी अस्पताल और व्यवस्थाओं को लेकर मरीजों से फीडबैक लेंगे। वहीं मरीजों की समस्याओं का निराकरण भी किया जाएगा।

Read More: किसान सम्मान निधि : 33 लाख किसानों को बड़ा झटका, वापस देनी होगी राशि

स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य व्यवस्था को सुधारने के लिए यह नवीन पहल की गई है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि व्यवस्था में खामियों पर विभागीय अधिकारियों को आवश्यक कार्रवाई के लिए निर्देशित भी किया जाएगा। वही खंडवा के मरीज से बात करते हुए स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने उनसे कई तरह के सवाल पूछे इस दौरान उन्होंने जानना चाहा कि अस्पताल में मरीजों को किसी तरह के पैसे नहीं देने पड़ रहे ना? दवाइयां बाजार से खरीद पड़ रही है क्या? रसोई में भोजन समय पर मिलता है या नहीं अथवा अन्य तरह की जानकारियां प्राप्त की गई।

इसके साथ ही डॉक्टर प्रभु राम चौधरी ने अस्पताल के सिविल सर्जन से कहा कि व्यवस्था में किसी भी तरह की कमी नहीं रहनी चाहिए। मरीज अस्पताल आए तो उन्हें उत्तम व्यवस्था प्रदान की जाए। वहीं उन्होंने निर्देशित किया है कि किसी भी तरह की खामियां नजर आने पर कार्रवाई की जाएगी।