देश भर में इस मामले में मध्य प्रदेश को मिली पहली रैंकिग

1564

भोपाल। सुशासन के मामले में मध्य प्रदेश को देशभर में जारी ताजा रैकिंग में पहला स्थान मिला है। वहीं राजस्थान को दूसरा और छत्तीसगढ़ को तीसरा स्थान मिला है। तीनों राज्यों को यह स्थान कृषि और संबद्ध क्षेत्र में बड़े राज्यों की श्रेणी में मिला है। समग्र रैंकिंग में मध्यप्रदेश को 9वां स्थान मिला है और छत्तीसगढ़ को चौथा स्थान मिला है।

मध्यप्रदेश के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने शुक्रवार को कहा कि इसका श्रेय मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ को देना चाहता हूं, बधाई। राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश तीनों राज्यों में कांग्रेस का शासन है और कांग्रेस राज्य में ही सुशासन होता है। यह गुड गवर्नेंस का ही परिणाम है कि प्रदेश में इतने बड़े पैमाने पर काम हो रहे हैं और भू-माफिया पर बगैर किसी राजनीतिक दबाव के एक्शन लिए जा रहे हैं। इसमें कांग्रेस से जुड़े लोग भी हैं, जिन पर कार्रवाई की जा रही है।

केंद्रीय कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय की ओर से गुरुवार को यह रैंकिंग जारी हुई। गौरतलब है कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी की जयंती के मौके पर हर साल 25 दिसंबर को भारत में सुशासन दिवस मनाया जाता है। गुड गवर्नेंस की रैंकिंग के लिए राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को तीन समूहों में बांटा गया था। बड़े राज्य, पूर्वोत्तर और पहाड़ी राज्य और केंद्रशासित प्रदेश। इसमें कृषि, वाणिज्य, उद्योग, सामाजिक कल्याण, मानव संसाधन जैसे विषयों पर काम हुआ था। भारत के कार्मिक मंत्रालय की ओर से सुशासन दिवस पर यह रैंकिंग जारी की गई है। सुशासन सूचकांक (जीजीआई) में मध्यप्रदेश के पड़ोसी राज्य छत्तीसगढ़ को चौथा स्थान मिला है। वहीं राजस्थान को 12 स्थान मिला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here