राजस्व विभाग की बड़ी तैयारी, कलेक्टर्स को मिले निर्देश, इन अधिकारियों को होगा लाभ

यह व्यवस्था उन्हीं जिले में लागू होगी। जहां तहसीलदार और नायब तहसीलदार के पद रिक्त हैं।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (MP) में अब राजस्व विभाग (Revenue Department) में 341 तहसीलदार (Tehsildar) और 483 नायब तहसीलदार (Naib tehsidar) की भर्ती प्रक्रिया (Recruitment) पूरी नहीं की जाएगी। इनकी जगह पर अधीक्षक भू-अभिलेख को तहसीलदार के अधिकार दिए जाएंगे। राजस्व विभाग ने यह बड़ा फैसला लिया है। यह व्यवस्था उन्हीं जिले में लागू होगी। जहां तहसीलदार और नायब तहसीलदार के पद रिक्त हैं।

दरअसल राजस्व विभाग के अधिकारियों का कहना है कि पदोन्नति पर प्रतिबंध होने के वजह से अब तहसीलदारों और नायब तहसीलदार के पद रिक्त पड़े हुए हैं। इसमें अभी 265 तहसीलदार कार्यरत हैं जबकि राजस्व निरीक्षक से नायब तहसीलदार पद पर 259 पदों पर पदोन्नति की प्रक्रिया पूरी होनी है। अब तहसीलदारों की भर्ती प्रक्रिया नहीं होगी। वही तहसीलदारों की शक्तियां सहायक भू अभिलेख अधिकारियों को सौंपी जाएगी। कलेक्टर को इसके लिए प्रस्ताव बनाकर प्रमुख राजस्व आयुक्त कार्यालय को भेजना होगा। वहीं अनुमोदन मिलने के बाद कलेक्टर्स इन अधिकारियों को न्यायिक शक्तियां सौंपेंगे।

Read More : Bhopal : पुलिस कमिश्नर प्रणाली में होगा बड़ा बदलाव, आम जनता को मिलेगा लाभ, आदेश जारी

राज्य शासन राजस्व विभाग में अभियान चलाया। जिसके मुताबिक तहसीलदार और नायब तहसीलदार की कमी से प्रभावित हो रहे स्थानों की पूर्ति आवश्यक है। ज्ञात हो कि भोपाल और इंदौर में कलेक्टर द्वारा राजस्व न्यायालय में कार्यपालक अधिकारियों की कमी को देखते हुए बड़ा फैसला लिया गया था। जहां नायब तहसीलदार पद की जिम्मेदारी भू अभिलेख अधिकारियों को सौंप दी गई थी।

एक बार फिर से प्रशासनिक व्यवस्था को सुदृढ़ रूप से चलाने के लिए तहसीलदार पदों पर भूअभिलेख अधिकारियों की नियुक्ति की जाएगी जबकि नायब तहसीलदार की शक्तियां सहायक भूअभिलेख अधिकारियों को सौंपी जाएगी। इस मामले में कलेक्टर को निर्देश दिए गए हैं। विभाग की तरफ से जारी निर्देश के मुताबिक जिन्हें यह शक्तियां दी जाएगी। उनका विभागीय परीक्षा उत्तीर्ण होना अनिवार्य रहेगा। इसके साथ ही रिक्त पद होने की व्यवस्था की जा रही है लेकिन इससे भू अभिलेख का कार्य प्रभावित ना हो।