MP BOARD: 12वीं के छात्रों को लेकर स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार का बड़ा बयान

इंदर सिंह परमार ने कहा कि कक्षा 12वीं की नियमित और स्वाध्यायी छात्रों का परीक्षा परिणाम कक्षा 10वीं के सर्वश्रेष्ठ 5 विषय के विषयवार अंकों के अधिभार के आधार पर तैयार किया जायेगा।

mp board इंदर सिंह परमार

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई मंत्री समूह की बैठक में तय किया गया है कि मध्य प्रदेश में MP Board के 12वीं के छात्रों का रिजल्ट 10वीं के आधार पर तैयार किया जाएगा। इसमें बेस्ट 5 विषयों से अंक भी लिए जाएंगे।इस फैसले के बाद स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) और सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री इंदर सिंह परमार (MP School Education Minister Inder Singh Parmar) का बयान सामने आया है।

यह भी पढ़े.. MP में जल्द शुरु होंगे नए कोर्सेस, छात्रों-रोजगार को लेकर सीएम शिवराज के कई बड़े फैसले

स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा कि कक्षा 12वीं की नियमित और स्वाध्यायी छात्रों का परीक्षा परिणाम कक्षा 10वीं के सर्वश्रेष्ठ 5 विषय के विषयवार अंकों के अधिभार के आधार पर तैयार किया जायेगा। सत्र 2020-21 में नियमित और स्वाध्यायी परीक्षा के सभी छात्रों को उत्तीर्ण किया जायेगा। कक्षा 10वीं के विषयों के आधार पर परीक्षा परिणाम तैयार करने की विस्तृत कार्य योजना पृथक से जारी की जायेगी।

इंदर सिंह परमार ने कहा कि प्रदेश में कोविड-19 की वर्तमान परिस्थितियों और विद्यार्थियों की सुरक्षा को ध्यान में रखकर मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान के मार्गदर्शन में यह निर्णय लिया गया है। निर्धारित मापदण्ड के आधार पर तैयार किए गए परीक्षा परिणाम से यदि कोई छात्र अपने प्राप्तांक से असन्तुष्ट रहता है तो कोविङ-19 के संकटकाल की समाप्ति के बाद राज्य शासन (MP Government) द्वारा आयोजित परीक्षा में भाग ले सकेगा।

यह भी पढ़े.. MP Board: 12वीं के छात्रों के लिए बड़ी खबर, रिजल्ट के लिए फॉर्मूला तय, CM की मंजूरी

इंदर सिंह परमार से पहले आज बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान(Shivraj Singh Chauhan)  ने कहा है कि MP Board कक्षा 12वीं के अंकों का निर्धारण कक्षा 10वीं के विभिन्न विषयों में प्राप्त अंकों को बेस्ट ऑफ फाइव के आधार पर किया जाए। यदि विद्यार्थी परिणाम सुधारना चाहते हैं तो वे परीक्षा देकर परिणाम सुधार सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि कोविड- 19 संक्रमण की गंभीरता एवं विषम परिस्थितियां बने रहने के कारण प्रदेश में हायर सेकेण्डरी और हायर सेकेण्डरी व्यावसायिक परीक्षा वर्ष 2021 माध्यमिक शिक्षा मण्डल (MPBSE) के द्वारा 2 जून 2021 को जारी आदेश से निरस्त की गई है।मध्य प्रदेश में MP Board 12वीं के 7.50 लाख विद्यार्थी हैं। अब संभावना जताई जा रही है कि जुलाई के अंत तक रिजल्ट बनाकर घोषित किया जा सकता है।

यह भी पढ़े.. MP College Unlock: जुलाई में परीक्षा, अगस्त से इंजीनियरिंग की क्लासेस, UP-PG में भी मिलेगा एडमिशन