MP Corona Update : 8 दिन में 89 केस, आज 8 नए पॉजिटिव, इन जिलों में बढ़ा संक्रमण

इस तरह प्रदेश में 8 दिनों 17 जिलों में 89 कोरोना पॉजिटिव आ चुके हैं। इसमें सबसे ज्यादा जबलपुर में 38 मरीज हैं।

mp corona

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। देश में संक्रमण की दर अब कम होती नजर आ रही है। भारत में पिछले 24 घंटे में 25,404 नए मामले सामने आए है और 339 की मौत हो गई। वही मध्य प्रदेश में फिर 7 नए पॉजिटिव केस मिले है, जिसके बाद एक्टिव केसों की संख्या 126 हो गई है और रिकवरी रेट 98.60% है।हैरानी की बात ये है कि 8 दिन में 89 केस सामने आए है।हाल ही में जबलपुर के आंकड़ों पर खुद मुख्यमंत्री चिंता जता चुके है।वही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्म-दिवस पर 17 सितंबर से मध्यप्रदेश में वैक्सीनेशन महाअभियान 3.0 (Vaccination MahaAbhiyan 3.0 ) संचालित किया जाएगा।

यह भी पढ़े.. उपचुनाव से पहले CM Shivraj की बड़ी घोषणा, पृथ्वीपुर निर्वाचन क्षेत्र को लेकर ये ऐलान

मध्यप्रदेश में मंगलवार को कोरोना के 7 नए मरीज मिले हैं।रिकवरी रेट 98.60% है और प्रदेश में कल कोरोना के 63,422 टेस्ट हुए।  इसमें भोपाल-धार में 2-2, इंदौर-जबलपुर में 1-1 संक्रमित मिले है। हैरानी की बात ये है कि 14 दिन बाद रायसेन एक पॉजिटिव मिला है।वही आज फिर 8 नए केस आए है और 13 लोग स्वस्थ हुए । प्रदेश में कुल एक्टिव केस 134 हैं और रिकवरी रेट 98.60% है। प्रदेश में मंगलवार को कोरोना के 64,932 टेस्ट हुए। इस तरह प्रदेश में 8 दिनों 17 जिलों में 89 कोरोना पॉजिटिव आ चुके हैं। इसमें सबसे ज्यादा जबलपुर में 38 मरीज हैं।

हाल ही में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल-इंदौर के बाद जबलपुर के आंकड़ों पर चिंता जताते हुए कहा था  कि तीसरी लहर का खतरा अभी टला नहीं है। पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र और केरल में लगातार केस बढ़ रहे हैं, किसी से स्थिति छिपी नहीं है। मप्र में भी पिछले दो सप्ताह में केस बढ़ते जा रहे है, ऐसे में हमें सतर्क रहने की जरूरत है। त्यौहार आने वाले है, ऐसे कार्यक्रम करें कि संक्रमण ना फैले। 17 माह में हमने कोरोना की दो लहरों का सामना कर तकलीफ उठाई है, कई अपने हमें छोड़कर चले गये। खतरा अभी टला नहीं है।

यह भी पढ़े.. MP Weather: मप्र के 19 जिलों में अति भारी बारिश की चेतावनी, रेड-ऑरेंज अलर्ट

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान  (Chief Minister Shivraj Singh Chouhan ने कहा था कि जबलपुर में सामने आये पॉजिटिव प्रकरण चिंता का विषय हैं। हमें निश्चितं नहीं होना है। अपनी जागरूकता से तीसरी लहर (Corona Third Wave) को रोकना है।कई पर्व- त्यौहार भी आने वाले हैं। त्यौहारों पर हम इस तरह कार्यक्रम करें कि संक्रमण न फैले। प्रत्येक जिले में कोरोना संक्रमण रोकने के लिए आवश्यक एहतियाती कदम उठाए जाएँ, जिला स्तरीय, विकास खण्ड स्तरीय, ग्राम स्तरीय और वार्ड स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्य जन-जागरूकता बढ़ाने की योजना पर मिलकर कार्य करें।

जांच के लिए लक्ष्य निर्धारित

इसके अलावा संक्रमित मिलने वाले जिलों को लेकर कोरोना जांच के लिए नए लक्ष्य निर्धारित किए गए है। इसके तहत 70 हजार प्रतिदिन जांच में 50 हजार जांच आरटीपीसीआर और 20 हजार रैपिट किट से करने के निर्देश दिए है। इसमें जिलाें के अनुसार लक्ष्य तय कर लैबों से मैपिंग की भी जानकारी दी गई है। यह आदेश स्वास्थ्य आयुक्त की तरफ से जारी किए गए है।

त्यौहारों को लेकर जारी है मध्य प्रदेश में य गाइडलाइन

  • इसके तहत जुलूस नहीं निकाले जाएंगे, मूर्ति विसर्जन 10 लोग ही कर सकेंगे और रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू भी लागू रहेगा।
  • धार्मिक व सामाजिक जुलूस या चल समारोह नहीं निकाले जाएंगे।
  • गाइडलाइन का उल्लंघन होने पर संबंधित जिले के कलेक्टर कार्रवाई करेंगे।
  • वे धारा 144 के तहत कार्रवाई कर सकेंगे। साथ ही जुलूस, पंडाल आदि के संबंध में अलग से परमिशन देंगे।
  • गणेशोत्सव और चेहुल्लम के दौरान 30 बाय 45 फीट के पंडाल बनाने की अनुमति।
  • कम जगह या संकरी सड़क पर पंडाल बनाने की अनुमति नहीं ।
  • गणेशोत्सव और चेहुल्लम के विसर्जन में अधिकतम 10 लोगों को शामिल होने की अनुमति।
  • धार्मिक, सामाजिक जुलूस या चल समारोह नहीं निकाले जाएंगे।
  • झांकी स्थल पर भीड़ नहीं। सोशल मीडिया के पालन के लिए आयोजक जिम्मेदार होंगे।
  • लाउड स्पीकर के इस्तेमाल में सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइंस का पालन करना जरूरी।
  • झांकियों, पंडालों और विसर्जन स्थल पर श्रद्धालु और आयोजक को मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग और सैनेटाइजर जरूरी।