मंदिरों में लाउडस्पीकर पर हनुमान चालीसा विवाद पर गृह मंत्री का बड़ा बयान, देखें वीडियो

भारत में किसी की स्वतंत्रता का हनन किए बिना सभी की अपनी-अपनी एक स्वतंत्रता है। लाउडस्पीकर पर किसी भी प्रकार की सनसनी नहीं फैलाना चाहिए।

narottam mishra

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। इंदौर के मंदिरों में लाउडस्पीकर पर हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa) बजाने पर लेकर शुरू हुए विवाद पर प्रदेश के गृह मंत्री डॉ नरोतम मिश्रा (MP Home Minister Narottam Mishra) का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि सभी को धार्मिक स्वतंत्रता है, रही बात मंदिरों में लाउडस्पीकर के उपयोग का तो उसका उपयोग तो बहुत पहले से मंदिरों में हो रहा है, कही कोई रोक नही है।

यह भी पढ़े.. लाखों कर्मचारियों को जल्द मिलेगी गुड न्यूज, फिर बढ़ेगा 3% DA! जानें एरियर के साथ कितनी बढ़ेगी सैलरी

आज मीडिया से चर्चा करते हुए गृह मंत्री डॉ मिश्रा ने कहा कि हम सबने तो बहुत पहले से मंदिरों में लाउडस्पीकर पर अखण्ड रामायण, हनुमान चालीसा होते देखा है। उसमें नया क्या है। सभी को धार्मिक स्वतंत्रता है, बस इतना ध्यान रखना है कि अपनी धार्मिक स्वतंत्रता का उपयोग करते समय दूसरे की धर्मिक स्वतंत्रता का हनन नही हो। धार्मिक मामलों को विवादित बनाकर सनसनी फैलाना गलत है। अगर किसी मंदिर में लाउडस्पीकर पर हनुमान चालीसा हुई तो इसमें क्या बड़ी बात है।क्या ऐसा पहली बार हुआ है।बचपन से आज तक सभी ने अपने अपने मोहल्लों में रामचरित मानस का पाठ 24 घण्टे सुना होगा।हर व्यक्ति को स्वतंत्रता है बशर्ते दूसरे की स्वतंत्रता बाधित नही हो

कमलनाथ जी के पास तो पहले से पीके है

कांग्रेस और पीके को लेकर गृह मंत्री डॉ मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस में सोनिया गांधी, राहुल गांधी प्रियंका गांधी सभी पीके यानी प्रशांत किशोर को कांग्रेस में लाना चाहते है लेकिन कमलनाथ जी शायद इसके पक्ष में नही है। इसका कारण तो मुझे एक ही समझ मे आता है कि कमलनाथ जी के पास पीके याने प्रशांत कक्कड़ पहले से ही है ।इसलिए अब उन्हें किसी दूसरे पीके की जरूरत नही है।