MP News: एक बार फिर घरेलू गैस सिलेंडर की कीमत में वृद्धि, 25 रुपए बढ़े दाम

1 मार्च को फिर से गैस सिलेंडर के दामों में 25 रूपए की बढ़ोतरी की गई और कीमत 903 पहुंच गई है। जो दिसंबर से अब तक लगातार 7वीं बार बढ़ोतरी की गई है।

रसोई गैस

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। आम जनता के जेब पर एक बार फिर से वजन बढ़ा है। दरअसल सरकारी तेल कंपनियों (Government oil companies) ने रसोई गैस सिलेंडर (LPG Cylinder) की कीमतों में एक बार फिर वृद्धि की है। 5 दिन में यह दूसरी बार घरेलू गैस की कीमतों को बढ़ाया गया है। वही पिछले 3 महीने में घरेलू गैस की कीमतों में 225 रूपए की बढ़ोतरी देखी गई है।

दरअसल सरकारी तेल कंपनियों द्वारा एक बार फिर से गैस सिलेंडर के दामों में 25 रूपए की बढ़ोतरी की गई है। इससे पहले 1 जनवरी को 50 रूपए, 4 फरवरी को 25 रूपए, 15 फरवरी को 50 रूपए और 25 को 25 रूपए बढ़ाए गए थे।वही गैस सिलेंडरों के कीमत वृद्धि की बात करें तो 1 दिसंबर को 14.5 किलो गैस की कीमत 678 रूपए थी जो 15 दिसंबर को बढ़कर 728 रूपए हो गई। वहीं 1 जनवरी को इसकी कीमत 778 रूपए पहुंच गई। जबकि 4 फरवरी को 803 रूपए दर्ज की गई। 15 फरवरी को 853 रूपए, 25 फरवरी को 878 रूपए 1 मार्च को फिर से गैस सिलेंडर के दामों में 25 रूपए की बढ़ोतरी की गई और कीमत 903 पहुंच गई है। जो दिसंबर से अब तक लगातार 7वीं बार बढ़ोतरी की गई है।

Read More: MP Economic Survey Report: सरकार ने कहा- बेरोजगारों की संख्या 25 लाख, GDP में गिरावट दर्ज

इधर व्यवसायिक रसोई गैस सिलेंडर की कीमत पर चर्चा करें तो 19 किलोग्राम सिलेंडर की कीमत में भी बढ़ोतरी की गई है 19 किलोग्राम के व्यावसायिक रसोई गैस सिलेंडर की कीमत में 95 रूपए की बढ़ोतरी की गई है। बता दें कि हर महीने की शुरुआत में एलपीजी की कीमतों में बदलाव किया जाता है। घरेलू एलपीजी सिलेंडर की की कीमत में 25 फरवरी को ही बढ़ोतरी की गई थी। फिर 1 मार्च को एक बार फिर से गैस सिलेंडर के दाम बढ़ाए गए हैं।

ज्ञात हो कि सरकार 1 साल में प्रति गैस कनेक्शन को 12 सिलेंडर पर सब्सिडी देती है। हालांकि इसके लिए ग्राहकों को हर सिलेंडर पर सब्सिडी समेत कीमत देनी पड़ती है लेकिन बाद में सबसे ज्यादा पैसा सरकार जाटों के खाते में भेजती है। 1 साल में 12 गैस सिलेंडर के बाद ग्राहकों को घरेलू गैस सिलेंडर के दाम बाजार मूल्य पर खरीदने होते हैं।