मप्र पंचायत चुनाव की तैयारियां तेज, अधिकारियों को सौंपे दायित्व, तारीखों का ऐलान जल्द

नोडल अधिकारियों के साथ-साथ एक-एक सहायक नोडल अधिकारी भी बनाए गए है। समस्त नोडल अधिकारी एवं सहायक नोडल अधिकारी रिटर्निंग आफिसर हैंड बुक के अनुसार सौंपे गए दायित्वों का निर्वहन करेंगे।

पंचायत चुनाव

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में चुनाव आयोग की तैयारियों को देखकर कहा जा सकता है कि दिसंबर 2021 तक पंचायत चुनावों (MP Panchayat Election 2021) की तारीखों का ऐलान हो सकता है और आचार संहिता लगाई जा सकती है। राज्य निर्वाचन आयुक्त बसंत प्रताप सिंह (State Election Commissioner Basant Pratap Singh) ने कलेक्टरों से 3 दिन यानि 25 नवंबर 2021 तक  पुरानी परिसीमन स्थिति की रिपोर्ट मांगी है।इसी कड़ी में अनूपपुर कलेक्टर ने जिला स्तरीय नोडल अधिकारी के दायित्व संबंधित आदेश जारी किया तो वही छतरपुर में EVM व मतपेटी से जुडे़ पर्यवेक्षण कार्यों के अधिकारी नियुक्त किए गए है।

यह भी पढ़े.. MP News: लापरवाही पर 2 कर्मचारी निलंबित, 6 को नोटिस, 1 की सेवा समाप्त, वेतन वृद्धि रोकी

अनूपपुर कलेक्टर (Anuppur Collector) एवं जिला निर्वाचन अधिकारी मनोज पुष्प ने  जिला स्तरीय नोडल अधिकारी नियुक्त करते हुए आदेश जारी किये है, जिसके तहत नोडल अधिकारी को निर्वाचन कार्य संबंधित आवश्यक और महत्वपूर्ण दायित्व भी सौपें गए है। नोडल अधिकारी को सौंपे गए दायित्व की प्रति टीएल बैठक में समीक्षा भी की जाएगी।  निर्वाचन संबंधित विभिन्न कार्यों के लिए 28 जिला स्तरीय नोडल अधिकारी एंव सहायक नोडल अधिकारी बनाए गए है।नोडल अधिकारियों के साथ-साथ एक-एक सहायक नोडल अधिकारी भी बनाए गए है। समस्त नोडल अधिकारी एवं सहायक नोडल अधिकारी रिटर्निंग आफिसर हैंड बुक के अनुसार सौंपे गए दायित्वों का निर्वहन करेंगे।

यह भी पढ़े.. कर्मचारियों के 18 महीने के बकाया DA Arrears पर ताजा अपडेट, 1 करोड़ को मिलेगा लाभ

सौपे गए दायित्वों में निर्वाचन कार्यालयीन सम्पूर्ण कार्य, EVM, परिवहन एवं वाहन व्यवस्था, जोन सेक्टर नक्षा तैयार करना, मतदान दल गठन, कार्मिक प्रबंधन, मतदान दलों का प्रशिक्षण, मतदान सामग्री वितरण एवं वापसी, जिले में आदर्श आचरण संहिता लागू कराए जाने, निर्वाचन व्यय लेखा, प्रेक्षक व्यवस्था दायित्व, कानून व्यवस्था, मतपत्र एवं स्टॉग रूम व्यवस्था, प्रचार प्रसार मीडिया, कम्प्यूटराइजेशन एवं IT प्रबंधन, सेंस प्लान पंचायत निर्वाचन, शिकायत प्रकोष्ठ, कम्यूनिकेशन प्लान एवं एसएमएस मॉनिटरिंग, वीडियोग्राफी,  प्रबंधों एवं चिकित्सा व्यवस्था, विद्युत व्यवस्था, संचार व्यवस्था, फ्यूल एवं भोजन व्यवस्था, मानदेय का आंकलन, मतगणना प्रबंधन, सांख्यिकी आंकडों एवं सारणीकरण प्रबंधन, मतदान केन्द्रों पर व्यवस्था प्रबंधन, शराब बिक्री पर प्रतिबंध, नियंत्रण कक्ष एवं कॉल सेन्टर संबंधित व्यवस्थाओं की जिम्मेदारी सौपी गई है।

पर्यवेक्षण कार्यों के अधिकारी नियुक्त

छतरपुर कलेक्टर (Chhatarpur Collector) एवं जिला निर्वाचन अधिकारी छतरपुर शीलेन्द्र सिंह ने पंचायत चुनावों की EVM व मतपेटी से संबंधित एफल एलसी, रेण्डाइेजेशन, कमीशनिंग, मतगणना और DMM सीलिंग के दौरान सतत पर्यवेक्षण के लिए नोडल एवं सहायक नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की है। MK रूसिया, कार्यपालन यंत्री को नोडल अधिकारी और उनकी सहायता के लिए रवि नापित और JP गुप्ता को सहायक नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। नियुक्त किये गये अधिकारी मध्यप्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा प्रदत्त किये गये निर्देशों के अनुसार दायित्वों का निर्वहन करेंगे।

मास्टर ट्रेनरों को EVM मशीनों का हैण्ड्सऑन प्रशिक्षण

इसके अलावा आगर मालवा कलेक्टर (Agar Malwa Collectorate)अवधेश शर्मा के निर्देशानुसार मंगलवार को ब्लॉक स्तरीय मास्टर ट्रेनरों को EVM मशीन एवं मतपेटी का हैण्ड्स ऑन प्रशिक्षण शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय (Government School) आगर में दिया गया। प्रशिक्षण जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर प्रोफेसर सुशील कटारिया व अध्यापक  रजनीश स्वर्णकार द्वारा प्रदान किया गया। जिसमें ब्लॉक स्तरीय मास्टर ट्रेनरों को पंचायत चुनावों की पूरी प्रक्रिया से अवगत करवाते हुए EVM मशीन एवं मतपेटी के बारे में जानकारी दी गई।