MP: 12वीं की 4 छात्राएं समेत 5 कोरोना पॉजिटिव, दे रही थी प्रैक्टिकल परीक्षा, छात्रों में हड़कंप

mp school

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। एक तरफ कोरोना (Corona) के लगातार बढ़ते आंकड़ों के चलते मप्र (MP) में कक्षा 1 से 8वीं तक के बच्चों के स्कूल खोलने (School Reopen) पर अबतक स्कूल शिक्षा विभाग (School Education Department) फैसला नहीं कर पाया है।वही दूसरी तरफ सीबीआई बोर्ड (CBSE Board 2021) की प्रैक्टिकल परीक्षाएं चल रही है, जिसमें कोरोना(Coronavirus) की गाइडलाइन का सख्ती पालन नहीं किया जा रहा है, नतीजा राजधानी भोपाल (Bhopal) के एक स्कूल में 12वीं कक्षा की 4 छात्राएं कोरोना पॉजिटिव पाई गईं।

यह भी पढ़े.. MP Weather Alert: 3 सिस्टम एक्टिव, मप्र के इन जिलों में बारिश और ओले के आसार

दरअसल, एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पूरा मामला राजधानी के भेल क्षेत्र स्थित कार्मल कान्वेंट स्कूल का है। जहां 12वीं कक्षा की सेक्शन ई की 4 छात्राएं कोरोना पॉजिटिव पाई गईं। हैरानी की बात तो ये है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान(Shivraj Singh Chauhan) और भोपाल कलेक्टर (Bhopal Collector) की इतनी सख्ती और हिदायत के बावजूद स्कूल प्रबंधन लापरवाही बरत रहे है।यही कारण है कि एमपी बोर्ड(MP Board of Secondary Education) की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं आगे बढ़ाई गई है।

स्कूलों में ना सैनिटाइज (Sanitize) किया जा रहा है और ना ही सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का पालन और तो और थर्मल स्क्रीनिंग के भी ठिकाने नहीं। यही कारण है कि एक साथ 4 छात्राएं कोरोना पॉजिटिव हो गई।वही स्कूल प्रबंधन का कहना है कि गाइडलाइ का पालन किया जा रहा है, कोई छात्रा कोरोना पॉजिटिव नही है। इस संबंध में शुक्रवार को जिला शिक्षा अधिकारी (DEO) ने कई निजी स्कूलों (Private School) का निरीक्षण किया और कार्मल कॉन्वेंट के मामले में लापरवाही बरतने वालों पर कार्रवाई की बात कही है।

कॉलेज में भी लापरवाही, कोरोना पॉजिटिव होने के बावजूद ली परीक्षा

यह लापरवाही का आलम केवल स्कूल तक ही सीमित नहीं बल्कि कॉलेज (College) में भी ऐसा ही मामला देखने को मिला है।खबर है कि भोपाल में शासकीय मोतीलाल विज्ञान महाविद्यालय (MVM Government College) में Bsc तृतीय वर्ष की एक छात्रा के कोरोना पॉजिटिव निकलने से हड़कंप मच गया।हैरानी की बात तो ये है कि गुरुवार को छात्रा रसायन विषय की प्रायोगिक परीक्षा देने कॉलेज आई थी।

यह भी पढ़े.. Sex Racket: हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट का खुलासा, 150 Whatsapp ग्रुप पर था सक्रिय, कई गिरफ्तार

इसका खुलासा जब हुआ तब वह प्रैक्टिकल के दौरान लगातार खांस और छींक रही थी। जब प्रोफेसर ने पूछा तो उसने बताया कि वह कोरोना पॉजिटिव है और उसकी रिपोर्ट बुधवार को आई है। इसके बाद प्रोफेसर ने छात्रा (Student) को परीक्षा देने से रोक दिया और तत्काल प्राचार्य को सूचना दी गई। प्राचार्य ने छात्रा को घर भेज दिया और उससे लिखित आवेदन लिया। इसके बाद जहां जहां छात्रा गई थी, वहां तुरंत सैनिटाइज  करवाया गया और छात्रों को सावधान रहने की हिदायत दी गई।