MP School : फिर बढे कोरोना के केस, स्कूलों को मिले सख्त निर्देश, पालन नहीं करने पर होगी कार्रवाई

MP School : सरकार ने लगभग एक सप्ताह पहले स्कूलों को 100 प्रतिशत क्षमता के साथ कक्षाएं संचालित करने की अनुमति दी थी, लेकिन राज्य में कोविड के मामले बढ़ने के बाद उन्हें वापस लेना पड़ा

MP school

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (MP) ने एक बार फिर से कोरोना केसों (corona cases) में बढ़ोतरी देखी जा रही है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकार के कड़े निर्देश दे रही है। वहीं स्कूलों (MP Schools) को भी बच्चों की सुरक्षा के निर्देश जारी किए गए हैं। MP School के सभी शिक्षकों के टीकाकरण को अनिवार्य कर दिया गया। इसके अलावा सभी स्कूलों को अपने स्कूल के आगे बोर्ड लगाकर शिक्षकों का टीकाकरण सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं।

जिला शिक्षा अधिकारी (DEO) ने MP School को अपने स्कूलों के बाहर एक बोर्ड (Board)  लगाने का निर्देश जारी किया है। जिसमें कहा गया है कि सभी कर्मचारियों का शत-प्रतिशत टीकाकरण अनिवार्य है, बुधवार को इसके लिए निर्देश दिए गए हैं।

Read More : Indian Railways : ओमिक्रॉन खतरे के बीच यात्रियों के लिए नियम हुए सख्त, गाइडलाइन जारी

जिला शिक्षा अधिकारी नितिन सक्सेना ने कहा कि सभी स्कूलों को कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए सरकारी आदेशों का पालन करना होगा। ‘सभी स्कूलों से कहा गया कि वे अपने कर्मचारियों को दोनों खुराक का टीका लगवाएं। सभी स्कूलों को आदेशों का पालन सुनिश्चित करने कहा गया है।

वहीँ बोर्ड लगाने का उद्देश्य यह है कि यदि कोई स्टाफ सदस्य बिना टीकाकरण के रह गया है तो प्राथमिकता के आधार पर उनका टीकाकरण करवाएं। सक्सेना ने कहा आदेश का पालन नहीं करने वाले स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

सरकार ने लगभग एक सप्ताह पहले स्कूलों को 100 प्रतिशत क्षमता के साथ कक्षाएं संचालित करने की अनुमति दी थी, लेकिन राज्य में कोविड के मामले बढ़ने के बाद उन्हें वापस लेना पड़ा। ओमाइक्रोन, नए संस्करण को सरकार की चिंताओं को जोड़ते हुए चिंता का संस्करण कहा गया है। वर्तमान में, स्कूलों को 50% की ताकत के साथ खोलने और ऑनलाइन कक्षाओं को भी जारी रखने की अनुमति दी गई है।