MP School: मप्र के शिक्षकों के लिए काम की खबर, 1 से 5वीं के छात्रों को होगा लाभ

राज्य शिक्षा केंद्र के संचालक धनराजू एस ने बताया कि शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार के निर्देशन में NCERT ने शिक्षकों के लिए 12 डिजिटल प्रशिक्षण कोर्स तैयार किए हैं।

MP Teacher Recruitment

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश के शिक्षकों (MP School Teachers) के लिए काम की खबर है। आज से प्रदेश में कक्षा पहली से पांचवी तक पढ़ाने वाले शिक्षकों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरु होने जा रहा है। इसके तहत शिक्षकों की क्षमतावर्धन के लिए 12 डिजिटल प्रशिक्षण कार्यक्रम तैयार किए जाएंगे। मध्य प्रदेश में कक्षा पहली से पांचवी तक पढ़ाने वाले शिक्षकों के लिए “बुनियादी साक्षरता और संख्या ज्ञान (Foundation Literacy & Numeracy)” विषय ऑनलाइन कोर्स (Online Course) श्रृंखला आज 1 अक्टूबर 2021 से शुरू की गई है।

यह भी पढ़े.. सीएम शिवराज सिंह आज इन खातों में राशि करेंगे ट्रांसफर, आहार भत्ते का भी मिलेगा लाभ

राज्य शिक्षा केंद्र के संचालक धनराजू एस ने बताया कि शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार के निर्देशन में NCERT ने शिक्षकों के लिए 12 डिजिटल प्रशिक्षण कोर्स तैयार किए हैं। यह सभी प्रशिक्षण कार्यक्रम भारत सरकार (Indian Government) के दीक्षा एप पर उपलब्ध कराए गए हैं। संबंधित कक्षाओं का अध्यापन कराने वाले शिक्षक अपनी सुविधानुसार समय पर अपने मोबाइल (Mobile) के माध्यम से ही इन कोर्स को पूर्ण कर सकेंगे। कोर्स पूर्ण करने पर शिक्षकों को इस प्रशिक्षण का प्रमाण पत्र भी प्राप्त होगा।

धनराजू ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 (New Education Policy 2020) , कक्षा 3 तक के सभी बच्चों में ‘बुनियादी साक्षरता और संख्या ज्ञान’ को वर्ष 2026-27 तक सुनिश्चित करने को सर्वोच्च प्राथमिकता देती है। बच्चों के प्रारंभिक वर्ष उनके जीवन में वृद्धि और विकास के सबसे महत्वपूर्ण वर्ष होते हैं। यह वह समय होता है जब उनके समग्र विकास और सीखने की नींव रखी जाती है। जो बच्चे गुणवत्तापूर्ण प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त करते हैं वे सामाजिक, शैक्षिक और बौद्धिक क्षेत्रों में बेहतर प्रदर्शन करते हैं। प्रारंभिक वर्षों में मजबूत नींव तैयार करने का बच्चों के विकास पर स्थाई प्रभाव पड़ता है।

यह भी पढ़े.. Electricity Bill : बिजली उपभोक्ताओं के लिए बड़ी खबर- ऐसा किया तो होगी कार्रवाई

धनराजू ने कहा कि इस दृष्टि से कक्षा 1 से 5वी तक के विद्यार्थियों (MP School Student) को पढ़ाने वाले प्राथमिक कक्षाओं के शिक्षकों के लिए यह प्रशिक्षण कार्यक्रम बहुत महत्वपूर्ण है। उन्होंने प्रदेश के शासकीय विद्यालयों में कक्षा एक से 5 का अध्यापन कराने वाले सभी 1 लाख 70 हजार 655 शिक्षकों से इन प्रशिक्षण कार्यक्रमों को पूर्ण करने का आग्रह भी किया है।