kamalnath

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव (urban body election) की तैयारियां जोरों पर चल रही है। एक तरफ चुनाव आयोग (Election commission) वोटर लिस्ट (Voter List) समेत कई कार्यों को तेजी से निपटा रहा है वही दूसरी तरफ बीजेपी-कांग्रेस पार्टी (BJP-Congress) जीत की रणनीतियां बनाने में जुटी है। इसी कड़ी में पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ (Kamal Nath) ने बुधवार 10 फरवरी  को एक बड़ी बैठक बुलाई है, इसमें प्रत्याशियों के चयन के साथ साथ कांग्रेस विधायकों (Congress MLA) को भी बड़ी जिम्मेदारी दी जाएगी।

यह भी पढ़े.. MP के इन 2 IAS अधिकारियों को मिली नीमच और बैतूल कलेक्टर की कमान

दरअसल, पिछले साल मप्र (MP) में हुए सत्ता परिवर्तन और उपचुनाव (By-election) में मिली करारी हार के बाद एमपी कांग्रेस (MP Congress) नगरीय निकाय चुनाव और पंचायत चुनाव (Panchayat Election) में कोई रिस्क नहीं लेना चाहती, ताकी 2023 के विधानसभा चुनावों (Assembly elections) के लिए जमीन तैयार हो सके। इसके लिए कांग्रेस  प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने 10 फरवरी को चुनाव प्रभारियों की बैठक बुलाई है, इसमें प्रत्याशी चयन और विधायकों की जिम्मेदारी तय की जाएगी।साथ ही महिला कांग्रेस और दूसरे संगठन के पदाधिकारी भी निकायवार तैनात किए जाएंगे।

यह भी पढ़े..MP Politics: कसम पर बवाल, BJP ने लगाएं आरोप, कांग्रेस का पलटवार, वीडियो वायरल

खबर है कि कमलनाथ (Former Chief Minister Kamal Nath) एक एक विधायक को एक-एक निकाय की जिम्मेदारी सौंप सकते है और विधायक के साथ एक प्रदेश संगठन व एक यूथ कांग्रेस (Youth Congress) पदाधिकारी भी तैनात किया जा सकता है। बैठक में निकाय चुनाव के लिए बनाए गए जिला प्रभारी प्रत्याशी चयन व मैदानी तैयारियों के संबंध में कमलनाथ को फीडबैक भी देंगे।यही कारण है कि लगातार बैठक कर निकायों में तैनात किए गए प्रभारियों से फीडबैक लिया जा रहा है,  ऐसे में 10 फरवरी को होने वाली कांग्रेस की बैठक बेहद महत्वपूर्ण मानी जा रही है।