कोरोना पर बोले प्रभु राम- दूसरी लहर के आंकलन में हुई चूक पर ब्लैक फंगस के लिए तैयारी पूरी

स्वास्थ्य मंत्री चौधरी ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर का आकलन सरकार सही ढंग से नहीं कर पाई थी। जिसके चलते बीमारी तेजी से फैली लेकिन ब्लैक फंगस को इस के प्रारंभिक स्टेज में ही रोका जाएगा

MP

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। भारत के अन्य राज्यों सहित मध्य प्रदेश में कोरोना (corona) की दूसरी लहर की तबाही धीरे-धीरे कम होती नजर आ रही है। केंद्र सरकार तथा राज्य सरकारों के बीच समन्वय के बाद लगातार कोरोना केसों में कमी देखी जा रही है इस बीच मध्य प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री प्रभु राम चौधरी (prabhuram chaudhary) ने भी इस बात को स्वीकार किया है कि सरकार कोरोना की दूसरी लहर की स्थिति का आकलन नहीं कर पाई थी। जिसकी वजह से इतनी भारी तबाही का सामना करना पड़ा। हालांकि स्वास्थ्य मंत्री प्रभु राम चौधरी ने कहा कि कोरोना केसों में अब कमी आ रही है और इसके लिए राज्य सरकार द्वारा लगातार व्यवस्थाएं की जा रही है।

इतना ही नहीं स्वास्थ्य मंत्री प्रभु राम चौधरी ने मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कहा की दूसरी लहर की स्थिति का अंदाजा नहीं था। जिसके कारण महामारी इतनी तेजी से फैली लेकिन अब पॉजिटिविटी रेट (positivity rate) घट रही है और लगातार रिकवरी रेट (recovery rate) में बढ़ोतरी देखने को मिल रही है।

इसके साथ ही प्रदेश में टीकाकरण की बात करते हुए स्वास्थ्य मंत्री चौधरी ने कहा कि प्रदेश के लोगों को भारत में बनी वैक्सीन उपलब्ध कराई जा रही है लेकिन फिलहाल रूसी स्पूतनिक वैक्सीन मप्र के लोगों को नहीं मिल पाएगी। स्वास्थ मंत्री चौधरी ने कहा कि स्पूतनिक वैक्सीन के लिए कंपनी से बात हुई है लेकिन अभी सिर्फ कारपोरेट जगत को ही स्पूतनिक वैक्सीन उपलब्ध कराई जा रही है इसलिए फिलहाल मध्य प्रदेश की जनता को स्पूतनिक उपलब्ध नहीं हो पाएगी।

Read More: शिवराज कैबिनेट की महत्वपूर्ण बैठक आज, कई अहम प्रस्तावों को मिलेगी मंजूरी

वहीं प्रदेश में कोरोना की जानकारी देते हुए स्वास्थ्य मंत्री प्रभु राम चौधरी ने कहा कि प्रदेश में 5921 केस रिकॉर्ड किए गए हैं जबकि 11000 से अधिक लोग स्वस्थ हो अपने घर वापस लौटे संक्रमण दर 25% से घटकर 9 पर पहुंच गया जबकि रिकवरी रेट में तेजी से सुधार हो रहा है। इसके अलावा भी सरकार द्वारा गरीब पीड़ितों के लिए लगातार बड़े निर्णय लिए जा रहे हैं उनका निशुल्क उपचार भी किया जा रहा है। वहीं मौत के आंकड़े छुपाने के सवाल पर जवाब देते हुए स्वास्थ्य मंत्री प्रभु राम चौधरी ने कहा कि मौत का आंकड़ा किसी सरकार ने नहीं छुपाया है श्मशान घाट में अन्य कारणों से भी मरे हुए लोगों की लाशें पहुंच रही है इसलिए लाशें ज्यादा नजर आ रहे हैं। मृतक के आंकड़े सरकार क्यों छिपाएगी।

प्रदेश में फैले ब्लैक फंगस पर बोलते हुए स्वास्थ्य मंत्री प्रभु राम चौधरी ने कहा कि ब्लैक संघर्ष के लिए इंजेक्शन दवाई मंगाई जा रही है। ऐसी स्थिति में शुरुआती इलाज के साथ ही ब्लैक फंगस निपटने की तैयारी सरकार द्वारा की गई है और इसके लिए बड़ी संख्या में तैयारियां शुरू कर दी गई है।

स्वास्थ्य मंत्री चौधरी ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर का आकलन सरकार सही ढंग से नहीं कर पाई थी। जिसके चलते बीमारी तेजी से फैली लेकिन ब्लैक फंगस को इस के प्रारंभिक स्टेज में ही रोका जाएगा और इसके लिए सरकार की पूरी तैयारी है।