रामेश्वर शर्मा ने ममता बनर्जी को भेजी रामायण, कहा- राम का विरोध त्याग दो, नहीं तो..

रामेश्वर शर्मा ने कहा कि दीदी प्रार्थना है राम का विरोध त्याग दो, वरना अब आपका जय श्री राम हो जाएगा। मैं आपको रामायण भेज रहा हूं , उम्मीद करता हूं कि आप इस राम चरित्र मानस को पढ़ेंगी और फिर फक्र और गर्व के साथ कहेंगी जय श्री राम।

भोपाल,डेस्क रिपोर्ट। जय श्रीराम के नारे पर भड़की पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को आज बीजेपी नेता और मध्य प्रदेश विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा (Rameshwar Sharma, Protem Speaker of Madhya Pradesh Legislative Assembly) ने रामचरित्र मानस की प्रति (Ramcharitra Manas copy) भेजी है। रामेश्वर शर्मा (Rameshwar Sharma) ने कहा कि रामचरित्र मानस (Ramcharitra Manas) को पढ़ने और समझने के बाद दीदी जय श्री राम के नारे का विरोध नहीं करेंगी। अपने द्वारा श्री राम चरित्र मानस की प्रति पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (West Bengal Chief Minister Mamata Banerjee) को भेजने को लेकर रामेश्वर शर्मा द्वारा ट्वीट (Tweet) भी किया गया है। रामेश्वर शर्मा अपने ट्वीट में लिखते हैं कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता दीदी को रामायण जी भेजी है उम्मीद है दीदी रामायण जी का पाठ करेंगी उनके चरित्र को समझेंगी और आगे से जय श्रीराम के नारों का विरोध नही करेंगी।

 

वहीं मीडिया से चर्चा करते वक्त प्रोटेम स्पीकर कहते हैं कि दीदी आप से प्रार्थना है जय श्री राम बोलना सीखो। राम का विरोध करना बंद करो। बंगाल की भूमि पर जो आपने राम का अपमान किया है, यह राम का अपमान नहीं यह बंगाल के हर एक नागरिक का अपमान है। यह उस माटी का अपमान है जहां से क्रांति का अलख जगा था, जहां से आजादी का सुर गूंजा था और पूरे देश ने उस सुर को पकड़ा था। दीदी फिर प्रार्थना है राम का विरोध त्याग दो वरना अब आपका जय श्री राम हो जाएगा। मैं आपको रामायण भेज रहा हूं , उम्मीद करता हूं कि आप इस राम चरित्र मानस को पढ़ेंगी और फिर फक्र और गर्व के साथ कहेंगी जय श्री राम।

 

बता दें कि शनिवार को सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर कोलकाता (Kolkata) में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था इस कार्यक्रम में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamta Banerjee) भी मौजूद थे। जब कार्यक्रम में संबोधन करने के लिए ममता बनर्जी आई तो मौजूद लोगों ने जय श्रीराम के नारे लगा रही है जिस पर ममता बनर्जी भड़क गई और कहा कि सरकारी कार्यक्रम में जय श्रीराम के नारे क्यों यहां बुला कर मुझे अपमानित किया गया है।

गौरतलब है कि आने वाले कुछ महीनों में बंगाल में विधानसभा चुनाव (Assembly elections) होने को है, जिसको लेकर टीएमसी (TMC) और भाजपा (BJP) अपनी पूरी जान झोंक रही है। जहां ममता बनर्जी तीसरी बार बंगाल की मुख्या बनने के लिए हर संभव प्रयास कर रहीं है, वहीं भाजपा भी टीएमसी को कड़ी चुनौती देने को तैयार है। बता दें कि बीजेपी के कद्दावर नेता कैलाश विजयवर्गीय को पश्चिम बंगाल का प्रभारी बनाया गया है। वहीं प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Narottam Mishra) को भी भाजपा ने बड़ी जिम्मेदारी दी है, जिसके चलते गृह मंत्री वहां काफी एक्टिव रहते है।