“रावण लीला” पर बवाल : पुलिस में रिपोर्ट, डायरेक्टर का मुंह काला कर गधे पर घुमाने की चेतावनी

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। फिल्म रावण लीला (Raavan Leela) का पोस्टर रिलीज होने के बाद ये विवादों में घिर गई है। मध्यप्रदेश में इसे लेकर पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। वहीं चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने भी इसपर आपत्ति जताते हुए कहा हा कि अक्सर फिल्मों में हिंदुओं का अपमान किया जाता है। संस्कृति बचाओ मंच ने ऐलान कर दिया है कि अगर रावण लीला के डायरेक्टर प्रदेश में आए तो उनका मुंह काला कर गधे पर घुमाया जाएगा।

इंस्टाग्राम पर दोस्ती कर शादी का झांसा देकर महिला से दुष्कर्म, पुलिस ने किया मामला दर्ज

मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि फिल्म को देखने के बाद अगर उसमें कुछ भी आपत्तिजनक पाया गया या इसमें हिंदुओं का अपमान हुआ तो ये फिल्म MP में नहीं चलने दी जाएगी। वहीं इसे लेकर एमपी नगर थाने में रिपोर्ट भी दर्ज कराई गई है। शिकायतकर्ता एडवोकेट और समाजसेवी आनंद शर्मा ने मांग की है कि फिल्म का नाम बदला जाना चाहिए। इस फिल्म के टाइटल से भगवान श्रीराम का अपमान और रावण का महिमामंडन प्रतीत होता है। इसे लेकर वे गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा से भी मुलाकात करेंगे।

वहीं संस्कृति बचाओ मंच के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रशेखर तिवारी ने कहा है कि हम फिल्म रावण लीला का कड़ा विरोध करते हैं। उन्होने चेतावनी दी कि अब हिंदू देवी देवताओं के नाम पर जो भी डायरेक्टर फिल्म बनाएगा और उनका अपमान करेगा उसके मध्यप्रदेश में आने पर  मुंह काला कर गधे पर घुमाया जाएगा। संस्कृति बचाओ मंच ने मांग कि की केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री इनके जैसे डायरेक्टरों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करें। इनका आरोप है कि यह एक रणनीति के तहत कार्य किया जा रहा है और हिंदू देवी देवताओं को अपमानित करके पब्लिसिटी पाने का एक जरिया बना लिया है जिसे संस्कृति बचाओ मंच कतई बर्दाश्त नहीं करेगा। उन्होने कहा कि जो भी हमारी भारतीय संस्कृति, सभ्यता और धर्म से खिलवाड़ करेगा, संस्कृति बचाओ मंच उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने के लिए बाध्य होगा।