कोरोना के बढ़ते आंकड़ों के बाद बोले शिवराज सिंह चौहान- इस फैसले पर कर रहे है विचार

सीएम शिवराज सिंह चौहान
cabinet meeting

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश(Madhya Pradesh/) में पिछले 24 घंटे में 9720 नए कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) सामने आए है और 51 की मौत हो गई बावजूद इसके ना तो लोग MASK पहनने में जागरुकता दिखा रहे है और ना ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे है। हैरानी की बात तो ये है कि इसके लिए शासन-प्रशासन द्वारा जुर्माना भी लगाया जा रहा है, लेकिन हालात जस के तस बने हुए है, ऐसे में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने एक बड़ा कदम उठाने का फैसला किया है। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि उल्लंघन करने वालों पर जुर्माना बढ़ाने का विचार किया जा रहा है।

यह भी पढ़े.. दमोह उपचुनाव: कोरोना को दावत! कमलनाथ का मेगा रोड शो, जमकर जुटाई भीड़

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि संक्रमण से नागरिकों को बचाना हम सभी का पहला दायित्व है, व्यवस्थाओं में कोई कमी नहीं होना चाहिए। हमारे प्रयत्नों से व्यवस्थाएँ बेहतर हों और आमजन का मनोबल भी बढ़े। आपदा की यह स्थिति जल्द समाप्त हो।शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि राज्य सरकार (MP Government) ने चुनौतियों और कठिनाईयों का सामना करते हुए संक्रमण की चैन तोड़ने के लगातार प्रयास किए हैं।इसके लिए मास्क का उपयोग न करना सामाजिक अपराध है। उल्लंघन करने वालों पर जुर्माना बढ़ाने का विचार किया जा रहा है।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में बिस्तर संख्या बढ़कर 36 हजार हो गई है। जिलों में कोविड केयर सेंटर्स भी प्रारंभ हो गए हैं। प्रदेश को प्रतिदिन 500 मीट्रिक टन तक Oxygen उपलब्ध कराने का प्रयास है। प्रदेश में नई 8 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर यूनिट भी लग रही हैं। उज्जैन, शिवपुरी, सिवनी और खंडवा में यह शुरू हो गई हैं। शेष चार जिले मंदसौर, रतलाम, मुरैना और जबलपुर में लग रही हैं। प्रदेश में अभी 180 कंसंट्रेटर हैं। इसके अलावा 750 कंसंट्रेटर अतिरिक्त मिल रहे हैं। कुल 2 हजार कंसंट्रेटर का अनुरोध किया गया है, जिसकी आपूर्ति हो रही है।

यह भी पढ़े.. Sex Racket :बड़े सेक्स रैकेट का खुलासा, आपत्तिजनक सामान के साथ 12 युवक-युवती गिरफ्तार,

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि यह संकट का समय है। प्रदेश की जनता का हित मेरे लिए सर्वोपरि है। सभी व्यवस्थाएँ सुनिश्चित करने के लिए मैं 24 घंटे संकल्पबद्ध हूँ। आज दौरा निरस्त कर कोरोना रोकथाम के प्रयासों को सुनिश्चित किया है। वरिष्ठ अधिकारी भी अपने अमले के साथ प्रयत्नों की पराकाष्ठा कर रहे हैं।  प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकरणों के दृष्टिगत आमजन से सावधानियों का पूरी तरह से पालन करने को कहा है। बिना काम के घर से बाहर जाना संक्रमण को बढ़ा सकता है।

सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि दो गज की दूरी बनवाएं, दुकानों के सामने गोल घेरे बनवाएं, मास्क लगाने के लिए प्रेरित करें। वैक्सीनेशन के वॉलंटियर्स की तीन श्रेणियाँ हैं। पहला, वैक्सीनेशन सेंटर में व्यवस्थाएँ देखना, दूसरा, वैक्सीनेशन प्रेरक और तीसरा वैक्सीनेशन हैल्पर।मोहल्ला-टोली कोरोना स्वयंसेवकों का कार्य महत्वपूर्ण है। मैं आज एक बड़ी जवाबदारी दे रहा हूँ। हम एक अपील करें कि जनता खुद ही अपने वॉर्ड में कर्फ्यू लगाए। तय कर लें कि संक्रमण की चेन तोड़ना है तो कोई बाहर नहीं निकलेगा

शिवराज सिंह  चौहान ने निजी संस्थाओं को कोरोना संक्रमण के संकट के समय सहयोग के लिए आगे आने की अपील की थी। शासकीय (Government Hospital) और निजी अस्पतालों (Private Hospital) में निरंतर बिस्तर बढ़ाए जा रहे हैं। संक्रमण की रफ्तार को देखते हुए आवश्यक बेड की व्यवस्था के लिए आपात स्थिति को देखते हुए नियमों के पालन को भी शिथिल किया गया है। स्वैच्छिक संगठन भी आगे आए हैं। इंदौर (Indore) में राधा स्वामी सत्संग न्यास द्वारा 500 बिस्तर का केंद्र प्रारंभ करने के लिए सहयोग दिया जा रहा है। भविष्य में जरूरत होने पर इसकी क्षमता भी बढ़ाई जायेगी।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा है कि कोरोना संकट से निबटने के लिए सरकार हर संभव प्रयास कर रही है, परंतु बिना जनता के सक्रिय सहयोग के हम इस लड़ाई को नहीं जीत पाएंगे। कोरोना संक्रमण को समाप्त करने के लिए हर व्यक्ति को जागरूक करना आवश्यक है। हर व्यक्ति को यह समझना होगा कि मास्क लगाना, 2 गज की दूरी रखना, बार-बार हाथों को धोना तथा जब तक कोरोना संक्रमण समाप्त नहीं हो जाता, तब तक बिना आवश्यक काम के घर से बाहर न निकलना कितना जरूरी है।

यह भी पढ़े.. MP Weather : एक साथ 4 सिस्टम फिर एक्टिव, मप्र के इन जिलों में बारिश के आसार

इधर, चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग (Minister Vishwas Kailash Sarang) ने बताया कि भोपाल में कोरोना मरीजों के लिये उपचार के लिए बिस्तरों में वृद्धि करने के लिये जल्द ही रेडक्रॉस अस्पताल को कोविड केयर सेंटर बनाया जायेगा। रेडक्रॉस अस्पताल (Bhopal Red Cross Hospital) को कोविड केयर सेंटर में बदलने से लगभग 50 बिस्तर में वृद्धि होगी। उन्होंने बताया कि यहाँ के जनरल और स्त्री रोग के मरीज जयप्रकाश अस्पताल में शिफ्ट किये जायेंगे। लगभाग 2-3 दिन में इसकी शुरूआत कर दी जायेगी।