Understand-the-whole-process-of-debt-waiver

भोपाल। मध्य प्रदेश में किसानों के कर्जमाफी की प्रक्रिया शुरू हो गई है| भोपाल में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने फसल ऋण माफी योजना के फार्म भरवाए जाने की शुरुआत की|  इस योजना से प्रदेश के 55 लाख किसानों का 2 लाख रुपए तक का कर्ज माफ होगा। चुनाव घोषणा पत्र में दस दिनों में कर्ज माफ करने के वचन को पूरा करने के लिए सीएम कमलनाथ ने पहले ही दिन कर्जमाफी की फाइल पर हताक्षर किये|  आज इस योजना के तहत लाभार्थियों से फॉर्म भरवाए गए। खुद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने फसल ऋण माफी योजना का फायदा पहुंचाने के लिए किसानों से कर्ज माफी का आवेदन पत्र भरवाया। इस योजना का नाम ‘जय किसान ऋण माफी’ योजना होगा| 

योजना की शुरुआत के साथ अब किसान फॉर्म भरकर कर्जमाफी के लिए आवेदन कर सकते हैं। 22 फरवरी से राशि किसानों के खाते में पहुंचना शुरू हो जाएगी। योजना का लाभ उन किसानों को मिलेगा जिन्होंने बैंक से खाद-बीज या केवाईसी के तहत कर्ज ले रखा है।  तो आइये समझिये किसानों की कर्जमाफी की पूरी प्रक्रिया| इसके लिए एमपी ऑनलाइन द्वारा लाइव पोर्टल किसानों से मिलने वाले आवेदन ऑनलाइन अपडेट किए जाएंगे। 


तीन अलग अलग रंग की बनेगी सूची 

योजना के तहत भुगतान का दौर 22 फरवरी से शुरू हो जाएगा|  18 जनवरी तक सभी ग्राम पंचायतों में कर्जमाफी वाले किसानों के नामों की सूची तीन अलग-अलग रंगों में चस्पा की जायेगी| किसानों को तीन केटेगिरी में रखा जाएगा, हरी सूची, सफेद सूची व गुलाबी सूची। हरी सूची में उन किसानों के नाम होंगे, जिनके आधार खाते से लिंक हैं। सफेद सूची में उन किसानों के नाम होंगे, जिनके खाते से आधार लिंक नहीं है तथा गुलाबी सूची में वे किसान होंगे, जिनका नाम इन दोनों सूची में गलत लिखा है या फिर नाम है ही नहीं। किसान जिस केटेगिरी में आएगा उसे उस रंग का फार्म भरना होगा, फार्म किसान को नि:शुल्क मिलेगा। ग्राम पंचायत भवन और वार्ड ऑफिस में कर्जदार किसानों की सूची लगाई जाएगी।  एमपी ऑनलाइन द्वारा लाइव पोर्टल किसानों से मिलने वाले आवेदन ऑनलाइन अपडेट किए जाएंगे। 

यहां कराएं फार्म जमा

किसान जिस ग्राम पंचायत में निवासरत हैं वह उसी पंचायत में ग्राम सचिव, ग्राम रोजगार सहायक व नोडल अधिकारी के पास फार्म जमा कर सकते हैं। निगम सीमा में आने वाले किसान वार्ड ऑफिस में फार्म जमा कर सकते है।

इस तरह चलेगी प्रक्रिया

– राष्ट्रीकृत व ग्रामीण बैंक के खातेदार को ऋण पुस्तिका के प्रथम पेज की फोटो कॉपी आवेदन में लगानी होगी।

– किसान 5 फरवरी तक आवेदन कर सकेंगे। इस बीच किसान खाते से आधार भी लिंक करवा सकेंगे।

– 5 फरवरी से 10 फरवरी के बीच किसानों के आवेदन ऑनलाइन फीड किए जाएंगे।

– किसान के मोबाइल पर फार्म ऑनलाइन जमा होने का मैसेज आएगा।

– 21 फरवरी को कर्ज की राशि मिलेगी।

कर्जमाफी के आवेदन में रंगों का मतलब

हरे रंग के आवेदन- आधार कार्ड से जुड़े कर्ज खाते

सफेद रंग के आवेदन- आधार नहीं जुड़े कर्ज खाते

कर्ज माफी की लिस्ट प्रकाशित होने के बाद पंचायतों में हरे और सफेद फार्म मिलेंगे

गुलाबी फार्म- किसान लिस्ट के बारे में अपनी आपत्ति दर्ज कराने वाला फार्म

– 22 फरवरी को राशि किसानों के खातों में आएगी।


आवेदन पत्र के साथ क्या क्या जमा करें

आधार कार्ड की फोटो कॉपी

सरकारी या क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक है तो ऋण खाता पासबुक का पहले पन्ने की फोटोकॉपी

सहकारी बैंक या कृषि समिति से लोन लिया गया है तो ऋण खाता पासबुक की जरूरत नहीं

जमीन अगर कई पंचायतों में आती है तो जिस पंचायत में उसका घर है वहां अर्जी जमा होगी.

किसानों को कैसे पता चलेगा

जानकारी अपलोड होते ही किसानों को sms से सूचित करेगी

पोर्टल में भरे गए आवेदन की फोटो कॉपी भी किसान को दी जाएगी.

जिन किसानों ने आधार कार्ड या ऋण खाते का नंबर नहीं दिया है उनके अलग से वक्त मिलेगा.

कर्ज की रकम किसान के खाते में डालते ही उन्हें sms से सूचित किया जाएगा

भुगतान के बाद किसानों को ऋण मुक्ति प्रमाणपत्र भी दिया जाएगा.