UPSC Exam 2021: लॉकडाउन के बीच 18 अप्रैल को प्रारंभिक परीक्षा, मप्र से 15773 परीक्षार्थी होंगे शामिल

UPSC

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। लाख छात्रों और उम्मीदवारों के विरोध के बावजूद UPSC Preliminary Examination  रविवार 18 अप्रैल को ही होगी। इसके लिए भोपाल 43 परीक्षा केंद्र बनाए गए है, जिसमें 15 हजार से ज्यादा परीक्षार्थी शामिल होंगे। MPPSC और NATA Exam 2021 की तरह लॉकडाउन (Lockdown 2021) और कोरोना (Coronavirus) का इस पर कोई असर नहीं पड़ने वाला है। UPSC परीक्षा से पहले  संभागायुक्त ने सभी केंद्राध्यक्षों कोकई महत्वपूर्ण निर्देश जारी किए है। संभागायुक्त कार्यालय में परीक्षा कंट्रोल रूम बनाया गया है जिनके फोन नम्बर 0755-2540772 एवं 0755-2790906 है। कंट्रोल रूम रविवार 18 अप्रैल को प्रात: 6 बजे से रात 9 बजे तक संचालित रहेगा।

यह भी पढ़े.. बैतूल में टूटे रिकॉर्ड, लॉकडाउन के बाद भी 24 घंटे में सामने आए 255 नए केस

दरअसल, संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Examination 2021) रविवार 18 अप्रैल को भोपाल के 43 परीक्षा केंद्र पर आयोजित की जाएगी। परीक्षा में 15 हजार 773 परीक्षार्थी सम्मिलित होंगे। संभागायुक्त  कवीन्द्र कियावत ने  विभिन्न केन्द्राध्यक्षों को निर्देश दिए है कि  UPSC परीक्षा के लिए सभी केंद्रों पर पर्याप्त सुरक्षा प्रबंध किए जाए। सभी प्रमुख बस स्टॉप, रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट पर बनाये गए सुविधा केंद्र पर परीक्षार्थियों को उनके केंद्र आदि की जानकारी दी जाए। सभी 43 परीक्षा केंद्रो पर तैनात सुपरवाइजर, अधीक्षक और परीक्षक को निर्देश दिए हैं कि आयोग की निर्देश पुस्तिका में दिए गए अनुदेशों के अधीन ही परीक्षा सम्पन्न करायें।

संभागायुक्त  कवीन्द्र कियावत ने भोपाल (Bhopal) जिले में Corona Curfew  के दौरान परीक्षार्थियों के लिए ट्रांसपोर्ट (BCCL) भोपाल सिटी लिंक लिमिटेड को निर्देशित किया है कि UPSC परीक्षा के दौरान जिले में बनाए गए परीक्षा केन्द्र पर रूट वार लगभग 100 बसों का संचालन किया जाए ताकि परीक्षार्थी को परीक्षा केन्द्र तक पहुँचने के लिए सुगमता हो।वही प्रदेश व अन्य शहरों से भोपाल आने वाले परीक्षार्थियों की सुविधा के लिए नादरा, हलालपुरा और आईएसबीटी बस अड्डा, भोपाल और हबीबगंज रेलवे स्टेशन तथा भोपाल एयरपोर्ट (Raja Bhoj Airport) पर विशेष सहायता केंद्र बनायें गये हैं। इन सहायता केंन्द्रो पर परीक्षार्थी, परीक्षा केंद्रो के बारे मे जानकारी प्राप्त कर रहे है।

परीक्षा रद्द करने की उठी मांग

UPSC की इस परीक्षा में देशभर से करीब चार लाख छात्र शामिल होंगे। यूपीएससी की तरफ से कहा गया है कि राज्यों को प्रवेश पत्र को कर्फ्यू पास मानने के लिए कहा गया है, लेकिन देशभर में तेजी से बढ़ते कोरोना को देखते हुए परीक्षा स्थगित करने की मांग की जा रही है। पिछले 24 घंटे में 2 लाख से ज्यादा मामले सामने आए है। सड़क से लेकर सोशल मीडिया तक उम्मीदवार परीक्षा को आगे बढ़ाने की मांग कर रहे है, लेकिन आयोग की तरफ से कोई बयान जारी नहीं किया गया है, इसका मतलब साफ है कि परीक्षा अपने निर्धारित समय पर 18 अप्रैल को ही होगी।इसके लिए उम्मीदवारों को कोरोना गाइडलाइन का पालन करना होगा।

उम्मीदवारों को रखना होगा इन बातों का ध्यान

  • कोविड-19 के दृष्टिगत परीक्षा में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों को ई-प्रवेश पत्र में आवंटित केंद्र पर परीक्षा आरम्भ होने के एक घंटा पूर्व पहुँचा होगा।
  • परीक्षा केंद्रो पर परीक्षार्थियों का प्रवेश, परीक्षा आरंभ होने के 10 मिनट पूर्व बंद हो जाएँगे।
  • परीक्षार्थियों को ई-प्रवेश पत्र के साथ स्वयं का एक फोटो और पहचान पत्र लाना अनिवार्य है।
  • परीक्षा केंद्र में परीक्षार्थी केन्द्र अध्यक्ष, परीक्षक और सुपरवाईजर मोबाइल फोन, स्मार्ट वॉच, पेजर आदि के नहीं ले जा सकेंगे।
  • कोविड के दृष्टिगत परीक्षार्थी अनिवार्य रूप से मॉस्क लगाएँगे और 50 मि.ली. की पारदर्शी बोतल वाले सैनिटाइजर ले जा सकेंगे।
  • कोविड-19 को देखते हुए 2 मीटर की दूरी पर परीक्षार्थियों को कक्ष में बैठने की व्यवस्था होगी।
  • कोई परीक्षार्थी अगर मास्क पहनकर नहीं आएँगे तो उन्हें केंद्र द्वारा मास्क उपलब्ध कराया जाएगा। केंद्रो के प्रवेश द्वार पर सेनेटाइजर रखें गए है।
  • प्रत्येक परीक्षा केन्द्रों पर दो आईसोलेशन कक्ष भी बनाए जाने के निर्देश दिए गए हैं।