कड़ाके की सर्दी, बारिश के साथ साल की विदाई, कई जिलों के स्कूलों में छुट्टियां घोषित

भोपाल| प्रदेश में कड़ाके की ठंड का दौर जारी है| साल के अंतिम दिन कई स्थानों पर बारिश हुई, वहीं अधिकतर जिलों में दिन भर धुंध छाई रही और धूप नहीं निकली। दिन में भी लोग अलाव जलाकर तापते देखे गए।  दतिया में सर्वाधिक सर्दी पड़ रही है, यहाँ पारा 1 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया है, जिसके चलते ठंड से पक्षियों की मौत भी हो गई। ठंड के बढ़ते प्रकोप के चलते प्रदेश के कई जिलों में 4 जनवरी तक स्कूलों की छुट्टी कर दी गई है, कई जिलों में स्कूलों का समय भी बदला गया है| 

मौसम विज्ञानियों के मुताबिक अभी 3-4 दिन तक मौसम का मिजाज इसी तरह बने रहने की संभावना है। मौसम साफ होने के बाद कड़ाके की सर्दी का सिलसिला फिर शुरू होगा।  मंगलवार को ग्वालियर, खजुराहो, भोपाल, सागर, नौगांव, श्यौपुरकला, टीकमगढ़, दमोह, गुना, सतना में तीव्र शीतल दिन रहा। नरसिंहपुर, जबलपुर, बैतूल, रीवा, सीधी, राजगढ़, रतलाम, शिवपुरी में शीतल दिन रहा। मंगलवार को पचमढ़ी में 5, नरसिंहपुर में 4, बैतूल में 3, होशंगाबाद में 0.5 मिमी बरसात हुई। भोपाल, जबलपुर में बूंदाबांदी हुई।

कई जिलों के स्कूलों में अवकाश घोषित 

शीतलहर के कारण प्रदेश के कई जिलों में अवकाश से अवधि बढ़ा दी गई है| इससे पहले 30 और 31 दिसम्बर को छुट्टी घोषित कर दी गई थी| कुछ जिलों में अब आठवीं तक के बच्चों की छुट्टियां 4 जनवरी तक रहेंगी| अशोकनगर में आठवीं तक के स्कूलों में अवकाश 4 जनवरी तक बढ़ा दिया है। पहले यह 31 दिसंबर तक घोषित था। बैतूल में भी इसी अवधि में अवकाश रहेगा। छिंदवाड़ा में नर्सरी से कक्षा 8 तक के लिए 3 जनवरी तक अवकाश रहेगा। जबकि कक्षा 9 से 12 की कक्षाएं सुबह 10.30 से शाम 4.30 तक चलेंगी। जबलपुर में भी कलेक्टर ने नर्सरी से कक्षा 8 वीं तक के लिए 4 जनवरी तक अवकाश घोषित कर दिया गया है। यह अवकाश सभी शासकीय, अशासकीय, अनुदान प्राप्त, प्राथमिक, माध्यमिक शालाओं सीबीएसई, आईसीएसई बोर्ड में लागू होगा। दमोह जिले में नर्सरी से 12 वीं तक के छात्रों के लिए 2 जनवरी तक अवकाश घोषित किया गया है|