कमजोर हड्डियों की समस्या से हैं परेशान, तो रोजाना पिएं यह एनर्जेटिक ड्रिंक्स

भावना चौबे
Published on -

Strong Bones Drinks: आजकल के समय में गलत खान-पान के कारण कम उम्र में ही हड्डियां कमजोर होने लगी है। बिजी लाइफस्टाइल के चलते लोग अपनी डाइट में कुछ भी शामिल कर लेते हैं। जब शरीर में कैल्शियम की कमी होने लगती है तो हड्डियां अपना जवाब दे देती हैं। हड्डियों को हमेशा मजबूत बनाए रखने के लिए अपनी नियमित डाइट और जीवन शैली में कुछ सामान्य बदलाव करना बहुत जरूरी होता है। हड्डियों को मजबूत रखने के लिए हमें इस बात का ज्ञान होना चाहिए, कि हम अपनी डाइट ऐसी चीजों को शामिल करें, जो हड्डियों को भरपूर मात्रा में कैल्शियम प्रदान करें और हड्डियों को मजबूत बनाए रखने में मदद करें। ज्यादातर ऐसा देखा गया है कि 40 साल की उम्र के बाद हड्डियों कमजोर होने लगती हैं, तो चलिए जानते हैं कि 40 साल की उम्र के बाद हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए कौन से ड ड्रिंक्स का सेवन करना चाहिए।

दूध पिएं

दूध में भरपुर मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है। इसके अलावा इसमें फॉस्फोरस, पोटेशियम, विटामिन-ए और विटामिन-डी जैसे भी पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करते हैं। हड्डियों का ख्याल रखने के लिए रोजाना एक गिलास दूध का सेवन जरूर करना चाहिए। अगर सादा दूध पीना आपको नहीं अच्छा लगता है, तो ऐसे में आप इसमें बादाम मिलाकर भी पी सकते हैं।

संतरे का जूस पिएं

संतरा एक खट्टा फल है, जिसमें विटामिन सी की भरपूर मात्रा पाई जाती है। यदि रोजाना नियमित रूप से संतरे का जूस पिया जाए, तो इससे मांसपेशियों के साथ-साथ शरीर के सभी अंगों को मजबूती मिलती है। हड्डियों को मजबूत करने के लिए यह सबसे अच्छा जूस माना जाता है। यह शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है।

ब्रोकली का जूस पिएं

ब्रोकली को फायदेमंद सब्जियों में से एक माना जाता है। इसके सेवन से शरीर को अनगिनत फायदे मिलते हैं। ब्रोकली में कैल्शियम, फास्फोरस विटामिन सी, पोटेशियम, फोलेट और विटामिन के जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं। ब्रोकली का जूस न सिर्फ हड्डियों को मजबूत करता है बल्कि यह मधुमेह, कैंसर, हाई बीपी जैसी समस्याओं से भी छुटकारा दिलाता है। क्योंकि साथ-साथ यह दांतों को भी मजबूत करता है

डिस्क्लेमर – इस लेख में दी गई सूचनाएं सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है। एमपी ब्रेकिंग इनकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ की सलाह लें।


About Author
भावना चौबे

भावना चौबे

इस रंगीन दुनिया में खबरों का अपना अलग ही रंग होता है। यह रंग इतना चमकदार होता है कि सभी की आंखें खोल देता है। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि कलम में बहुत ताकत होती है। इसी ताकत को बरकरार रखने के लिए मैं हर रोज पत्रकारिता के नए-नए पहलुओं को समझती और सीखती हूं। मैंने श्री वैष्णव इंस्टिट्यूट ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन इंदौर से बीए स्नातक किया है। अपनी रुचि को आगे बढ़ाते हुए, मैं अब DAVV यूनिवर्सिटी में इसी विषय में स्नातकोत्तर कर रही हूं। पत्रकारिता का यह सफर अभी शुरू हुआ है, लेकिन मैं इसमें आगे बढ़ने के लिए उत्सुक हूं। मुझे कंटेंट राइटिंग, कॉपी राइटिंग और वॉइस ओवर का अच्छा ज्ञान है। मुझे मनोरंजन, जीवनशैली और धर्म जैसे विषयों पर लिखना अच्छा लगता है। मेरा मानना है कि पत्रकारिता समाज का दर्पण है। यह समाज को सच दिखाने और लोगों को जागरूक करने का एक महत्वपूर्ण माध्यम है। मैं अपनी लेखनी के माध्यम से समाज में सकारात्मक बदलाव लाने का प्रयास करूंगी।

Other Latest News