मैग्नीशियम, फाइबर और प्रोटीन से भरपूर होता है राजमा, जानिए इसे बनाने की आसान रेसिपी

Healthy Lunch : कढ़ी-चावल, छोले-चावल और राजमा-चावल जैसे कॉम्बिनेशन्स उत्तर भारतीय खानपान का प्रमुख हिस्सा हैं, जिन्हें लोगों का पसंदीदा व्यंजन माना जाता है। इनमें प्रोटीन, फाइबर, विटामिन्स और खनिजों की अच्छी मात्रा होती है, जो शारीरिक और मानसिक को स्वास्थ्य बनाए रखने में मदद करती है। राजमा फाइबर से भरपूर होने के कारण पाचन सिस्टम को मजबूत बनाती है, जिससे पेट साफ रहता है और कब्ज की समस्या कम होती है। वहीं, पोटैशियम और मैग्नीशियम भी हड्डियों को मजबूती प्रदान करने के साथ-साथ रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद करते हैं। तो चलिए आज के आर्टिकल में हम आपको इसे बनाने की विधि बताते हैं, जिससे आप बड़ी आसानी से बना सकते हैं…

राजमा बनाने की आसान रेसिपी

सामग्री

  • 1 कप राजमा
  • 1 कप प्याज
  • 1/2 कप टमाटर
  • 1 टेबलस्पून अदरक-लहसुन पेस्ट
  • 2 हरी मिर्ची
  • 1/2 कप धनिया पत्तियां
  • 1 टीस्पून लाल मिर्च पाउडर
  • 1 टीस्पून धनिया पाउडर
  • 1/2 टीस्पून हल्दी पाउडर
  • 1 टीस्पून जीरा
  • 1 टेबलस्पून घी या तेल
  • नमक स्वाद के अनुसार

विधि

  • सबसे पहले सूखे हुए राजमा को पानी में भिगोकर रख दें।
  • जिसके बाद भिगे हुए राजमा को पानी में उबाल लें।
  • एक बार उबालने के बाद आंच कम करें, जिसके बाद राजमा गरम पानी में ही पकने दें।
  • फिर एक पैन में घी या तेल डाल कर उसे गरम करें।
  • इसमें जीरा डालें और उसे तड़के के रूप में बनाएं।
  • फिर उसमें प्याज, अदरक-लहसुन पेस्ट और मसाले डालें।
  • इन्हें सुनहरा होने तक भूनें।
  • जिसके बाद उसमें टमाटर, लाल मिर्च पाउडर, धनिया पाउडर, हल्दी पाउडर डालें और अच्छे से मिला कर भूनें।
  • अब उबाले हुए राजमा को अच्छे से छान लें और पैन में डाल दें।
  • सभी को मिलाने के बाद धीमी आंच पर इसे 15 से 20 मिनट तक ढककर पकाएं।
  • इस तरह आपकी सब्जी बनकर तैयार है।

राजमा खाने के फायदे

  • राजमा में प्रोटीन पाया जाता है, जिससे शरीर के ऊर्जा स्तर को बनाए रखने में मदद मिलती है।
  • इसमें फाइबर की अच्छी मात्रा होती है, जो पाचन को सुधारने और कब्ज से छुटकारा दिलाने में मदद करती है।
  • राजमा में फोलेट, आयरन, पोटैशियम, मैग्नीशियम और विटामिन सी पाई जाती है जो कि शरीर के लिए महत्वपूर्ण होते हैं।
  • राजमा का सेवन ग्लाइसेमिक इंडेक्स में मदद कर सकता है, जिससे ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में मदद मिलती है।
  • राजमा में फाइबर और प्रोटीन का संतुलन होने से व्यक्ति को जल्दी भूख नहीं लगती, जिससे वजन नियंत्रित रहता है।
  • राजमा गर्भवती महिलाओं के लिए महत्वपूर्ण है। इसमें पाए जाने वाले आयरन खून की कमी को दूर करता है।

(Disclaimer: यहां मुहैया सूचना अलग-अलग जानकारियों पर आधारित है। MP Breaking News किसी भी तरह की जानकारी की पुष्टि नहीं करता है।)


About Author
Sanjucta Pandit

Sanjucta Pandit

मैं संयुक्ता पंडित वर्ष 2022 से MP Breaking में बतौर सीनियर कंटेंट राइटर काम कर रही हूँ। डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन और बीए की पढ़ाई करने के बाद से ही मुझे पत्रकार बनना था। जिसके लिए मैं लगातार मध्य प्रदेश की ऑनलाइन वेब साइट्स लाइव इंडिया, VIP News Channel, Khabar Bharat में काम किया है। पत्रकारिता लोकतंत्र का अघोषित चौथा स्तंभ माना जाता है। जिसका मुख्य काम है लोगों की बात को सरकार तक पहुंचाना। इसलिए मैं पिछले 5 सालों से इस क्षेत्र में कार्य कर रही हुं।

Other Latest News