मांसपेशियों बढ़ाना चाह रहे हैं वह भी बिना मांस के, अभी आहार में शामिल करें इन उच्च प्रोटीन फल को

क्या आपको भी ऐसा लगता है कि केवल जिम जाने से आपके मसल बढ़ जायेंगे तो आप गलत हैं, क्योंकि इसके साथ एक प्रॉपर डाइट चाहिए होती है।

हेल्थ, डेस्क रिपोर्ट। जबसे सिक्स पैक ट्रेंड चला है। तबसे हर व्यक्ति फिट रहना चाहता है। इसके लिए कुछ लोग गयम जाते हैं, वहीँ दुबले पतले लोग भी अपने मसल बढ़ाने के लिए भी गयम जाते हैं। क्या आपको भी ऐसा लगता है कि केवल जिम जाने से आपके मसल बढ़ जायेंगे तो आप गलत हैं, क्योंकि इसके साथ एक प्रॉपर डाइट चाहिए होती है। तो आइये हम जानते हैं इस लेख में कि वह कौन से फल हैं जिनके मदद से आप जल्द से जल्द मसल गेन कर सकते हैं।वैसे आप किसी से सुझाव मांगेंगे तो वह आपको मांस खाने के लिए कहेगा लेकिन, प्रकृति में ऐसे भी फल है जिनमे हाई-प्रोटीन होता है और जिन्हे खाकर आप अपनी हेल्थ को अच्छा बना सकते हैं।

यह भी पढ़ें – छोटे फोन वालों के लिए RBI ने लांच किया UPI सर्विस, ग्रामीण क्षेत्रों में स्मार्टफोन उपयोग न करने वालों को मिलेगा लाभ

उच्च प्रोटीन फल मांसपेशियों को बढ़ाने के लिए सबसे अच्छे हैं। आइये जाने 10 हाई रिच प्रोटीन वाले फलों के बारे में:

मांसपेशियों बढ़ाना चाह रहे हैं वह भी बिना मांस के, अभी आहार में शामिल करें इन उच्च प्रोटीन फल को

1. एवोकाडो
स्वस्थ वसा, प्रोटीन और विटामिन का बड़ा स्रोत है एवोकाडो। आप इसको सलाद में जोड़कर प्रोटीन को अतिरिक्त मात्रा को बढ़ा सकते हैं। एक कप एवोकाडो में लगभग 3 ग्राम प्रोटीन होता है। जो मांसपेशियों का निर्माण करना चाहते हैं उन लोगों के लिए एक बढ़िया विकल्प है।

2. अमरूद
अमरूद से बेहतर कुछ नहीं है उच्च प्रोटीन के लिए। बॉडी बिल्डिंग करने वाले अमरूद को ‘सुपर-फूड’ मानते हैं क्योंकि वजन प्रशिक्षण के दौरान यह अत्यधिक प्रभावी होता है। स्वस्थ प्रतिरक्षा प्रणाली को बनाए रखने के लिए यह आवश्यक है क्योंकि अमरूद में विटामिन सी और ए का भी एक बड़ा स्रोत होता है।

यह भी पढ़ें – MP: राज्य सरकार का बड़ा फैसला, सभी जिलों में लगेंगे शिविर, इन्हें मिलेगा लाभ

3. ब्लैकबेरी
शहतूत जिसे इंग्लिश में ब्लैकबेरी भी कहा जाता है, यह एक स्वादिष्ट और पौष्टिक फल है जो फाइबर, एंटीऑक्सिडेंट और प्रोटीन से भरपूर होता है। इसके एक कप में लगभग 2 ग्राम प्रोटीन होता है। साथ ही यह मैग्नीशियम का भी एक अच्छा स्रोत है, जो मांसपेशियों की वृद्धि और विकास के लिए आवश्यक है। इसे फल के रूप के साथ साथ इसकी हलकी कच्चे फल को चटनी के रूप में भी सेवन कर सकते हैं।

4. कटहल
कटहल की गिनती सब्जियों में होती है, लेकिन यह एक फल है। जो कि स्वादिष्ट होने के साथ -साथ प्रोटीन और पोषक तत्वों से भी भरपूर है। इसकी बनावट चिकन के सामान होती है, इसलिए कई लोग इसका उपयोग नहीं करते हैं खाने में।

5. संतरा
संतरे में विटामिन सी का एक बड़ा स्रोत होता है, साथ ही इसमें फाइबर और प्रोटीन भी उच्च मात्रा में होता हैं। एक कप संतरे में लगभग 1.7 ग्राम प्रोटीन होता है। अधिकतम प्रभाव के लिए उन्हें कसरत के बाद नाश्ते के रूप में लें।

यह भी पढ़ें – Mandi bhav: 6 अप्रैल 2022 के Today’s Mandi Bhav के लिए पढ़े सबसे विश्वसनीय खबर

मांसपेशियों बढ़ाना चाह रहे हैं वह भी बिना मांस के, अभी आहार में शामिल करें इन उच्च प्रोटीन फल को

6. खुबानी
खुबानी एक मीठा और तीखा फल है जो फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है। एक कप खुबानी में लगभग 2.3 ग्राम प्रोटीन होता है और इसमें बीटा कैरोटीन का भी एक अच्छा स्रोत होता हैं, जो स्वस्थ त्वचा और आंखों की रोशनी के लिए आवश्यक है।

7. कीवी
प्रति कप कीवी फल में 2.1 ग्राम प्रोटीन होता है को आपमें अतिरिक्त प्रोटीन जोड़ने का एक शानदार तरीका है। कीवी विटामिन सी और ई से भी भरपूर होते हैं, जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने के लिए बहुत अच्छे हैं।

8. सेब
दुनिया का सबसे लोकप्रिय फल सेब, जिसके बारे में कहा जाता है। कि रोजाना एक सेव आपको डॉ. से दूर रखता है। इसमें प्रति फल अच्छी मात्रा में प्रोटीन (लगभग 1 ग्राम) होता है। हालांकि इससे आपको रातों-रात मांसपेशियों नहीं मिलेंगी, पर मांशपेशियों को बनाने के लिए उत्तम तरीका है।

यह भी पढ़ें – कर्मचारियों को बड़ा तोहफा, मिलेगा उच्च वेतनमान का लाभ, वेतन में होगी 5 से 12 हजार रुपए तक की वृद्धि, आदेश जारी

9. केला
केला वर्कआउट करने वालों का पसंदीदा फल है क्योंकि यह सस्ता होने के साथ साथ उच्च प्रोटीन वाला होता है। आसान, पोटेशियम से भरपूर, और अच्छी मात्रा में प्रोटीन (1.3 ग्राम प्रति फल) के साथ, केला एक आदर्श प्री-या पोस्ट-वर्कआउट स्नैक है।

10. तरबूज
तरबूज में ज्यादा पानी और जबकि प्रोटीन या वसा कम होता है। तो यह इस सूची में क्या कर रहा है। जबकि सच तो यह है कि तरबूज में साइट्रलाइन की मात्रा अधिक होती है, जो बाद में आपके शरीर में नाइट्रस ऑक्साइड में बदल जाती है। नाइट्रस ऑक्साइड मांसपेशियों में रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है और पोषक तत्वों की वसूली में मदद करता है, जो दोनों मांसपेशियों के निर्माण में मदद करते हैं।