Russia-Ukraine Crisis : यूक्रेन राष्ट्रपति Zelenskyy ने PM Modi से की बात, UNSC में राजनीतिक समर्थन देने का आग्रह

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। रूस और यूक्रेन (russia-ukraine crisis) के बीच उपजे विवाद ने अब आक्रमक रूप ले लिया है। लगातार हो रही आर पार की लड़ाई और आक्रमण के बीच कई लोगों ने अपनी जान गवा दी है। इसी बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर ज़ेलेंस्की (Volodymyr Zelensky) ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से इस मामले पर चर्चा की। वहीँ यूक्रेन राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की ने पीएम मोदी (PM Modi) से साथ मिलकर इस आक्रामकता को रोकने का आग्रह किया है।

ट्वीट में इस बात की जानकारी देते हुए यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से चर्चा की गई है। उन्हें रूसी आक्रमण की आक्रामकता के बारे में जानकारी दी गई है। हमारे जमीन पर एक लाख से अधिक आक्रमणकारी मौजूद हैं। जो आवासीय भवनों पर भी अंधाधुंध फायरिंग कर रहे हैं। वहीं भारत से मदद की अपेक्षा करते हुए उन्होंने सुरक्षा परिषद में राजनीतिक समर्थन का आग्रह किया है। यूक्रेन के राष्ट्रपति ने कहा है कि हमें एक साथ होकर हमलावर को रोकना चाहिए।

24 फरवरी को राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अपने सैनिकों को पड़ोसी देश पर आक्रमण करने का आदेश देने के बाद से यूक्रेनी और रूसी सेना एक भयंकर लड़ाई में लगी हुई है। रूसी सेना कीव में पहुँच रही है, ब्रिटिश रक्षा मंत्रालय ने कहा कि वे यूक्रेन की राजधानी शहर के केंद्र से मुश्किल से 30 किमी दूर हैं।

Read More : MP School : निजी स्कूलों की मनमानी पर लगेगी रोक? स्कूल फीस मामले में HC ने की बड़ी व्यवस्था

वहीँ अब तक कई यूक्रेनियाई लोगों ने हथियार उठाने और अपनी संप्रभुता की रक्षा करने के लिए राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की के आह्वान पर स्वय की तैनाती शुरू कर है। इधर कीव मेयर विटाली क्लिट्स्को ने शनिवार को शहर में रूसी सैनिकों के दबाव के रूप में गहन कर्फ्यू लगा दिया। समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने बताया कि क्लिट्सको ने टेलीग्राम मैसेजिंग ऐप पर कहा कि वह शाम 5 बजे से सुबह 8 बजे तक कर्फ्यू के घंटे बढ़ा रहा है। क्लिट्स्को ने कहा कर्फ्यू के दौरान सड़क पर सभी नागरिकों को दुश्मन के तोड़फोड़ और टोही समूहों का सदस्य माना जाएगा। दो दिन पहले लगाया गया कर्फ्यू रात 10 बजे से सुबह 7 बजे तक चला।

यूक्रेन के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि रूसी हमले में 198 लोग मारे गए हैं और 1,000 से अधिक लोग घायल हुए हैं। स्वास्थ्य मंत्री विक्टर ल्याशको ने शनिवार को बताया कि मरने वालों में तीन बच्चे भी हैं। उनके बयान ने यह स्पष्ट नहीं किया कि हताहतों में सैन्य और नागरिक दोनों शामिल हैं या नहीं।

जारी आंकड़ों के मुताबिक उन्होंने कहा कि गुरुवार से शुरू हुए रूसी आक्रमण में 33 बच्चों सहित अन्य 1,115 लोग घायल हो गए। उनका यह बयान तब भी आया जब शनिवार को कीव की सड़कों पर लड़ाई जारी रही। इससे पहले शहर के मेयर के हवाले से खबर आई थी कि शहर में रात भर की गोलाबारी और लड़ाई में दो बच्चों सहित कम से कम 35 लोग घायल हो गए।

हालाँकि, संयुक्त राष्ट्र ने अनुमान जताया है कि रूसी आक्रमण ने कम से कम 50,000 यूक्रेनियन नगरिक को विस्थापित किए हैं जिन्हें देश से भागने के लिए मजबूर किया गया है। सैटेलाइट छवियां अब पड़ोसी रोमानिया में सीमा पार करने की कोशिश कर रहे निवासियों की लंबी कतारें दिखाती हैं। कीव और रोमानियाई सीमा चौकी के बीच की दूरी लगभग 600 किमी है।