नवरात्रि में करें यह विशेष उपाय, शनि साढ़े साती और शनि ढैय्या से मिलेगी राहत

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। माँ दुर्गा की उपासना के नौ खास दिन नवरात्रि के मानें जाते है। ये पर्व हिंदू धर्म के लोगों के लिए बेहद ही खास होता है। कहा जाता है कि इन दिनों मां अपने भक्तों की भक्ति से प्रसन्न होकर उनका कल्याण करती हैं। नौ दिन तो भक्त मां की भक्ति में लीन रहते है और सुख समृद्धि की कामना करते है।लेकिन वही ज्योतिष अनुसार भी अगर देखा जाए तो नवरात्रि के दिनों में विशेष पूजा पाठ से ग्रह दोषों को भी शांत किया जा सकता है। शनि ग्रह जिससे सबसे ज्यादा लोग परेशान रहते हैं। देखिए शनि दोष से मुक्ति पाने के लिए नवरात्रि में किन उपायों को कर सकते है।

Navratri 2021 : नवरात्रि के 9 दिनों में भूल से भी नहीं करना चाहिए ये काम…

पहला उपाय

नवरात्रि में शनिवार के दिन रामायण के उत्तरकाण्ड का पाठ करें। कहा जाता है कि इससे शनि, राहु और केतु के दोषो से राहत मिलती है। शनिवार के दिन शनिदेव का सरसो के तेल में काले तिल मिलाकर अभिषेक करें। शनि को मजबूत करने के लिए मां काली को गुड़हल का फूल अर्पित करें। इसके बाद “ॐ क्रीं कालिकायै नमः” मंत्र का जाप करें और माता से शनि की शान्ति की प्रार्थना करें। मां अंबे के कालरात्रि स्वरूप की उपासना करने से भी शनि मजबूत होते हैं।

Navratri 2021 : नवरात्रि में क्यों जलाते हैं अखंड ज्योत ? जानें इसका महत्व और प्रभाव

दूसरा उपाय

ज्योतिष में शनि को नियंत्रित करने के लिए मां कालरात्रि की पूजा अचूक मानी जाती है। इसी के साथ नवरात्र में मां महागौरी की अराधना से भी शनि ग्रह मजबूत होता है। नवरात्र में पड़ने वाले शनिवार के दिन लोहे का सामान, सरसो के तेल, तिल, उड़द की दाल, काले कपड़े इत्यादि चीजों का दान करें। कहा जाता है कि इससे शनि परेशान नहीं करते। नवरात्रि के नौ दिन मां अंबे की विधि विधान पूजा करने से भी जीवन में किसी भी ग्रह के कारण आने वाली परेशानियों से छुटकारा मिल जाता है।

लूट और अपहरण का दतिया पुलिस ने किया 24 घंटे में खुलासा, 2 नाबालिग सहित 3 गिरफ्तार

तीसरा उपाय

नवरात्रि में शनिवार के दिन नहाने के पानी में काले तिल मिलाकर नहाएं इससे शनि ग्रह शांत होता है। शनिवार के दिन तेल के अन्दर अपना मुंह देखकर तेल का दान करें। शनिवार के दिन शाम के समय पीपल के पेड़ के नीचे दीपक जलाएं। इस दिन शनि स्त्रोत का पाठ कर सकते हैं। अगर आप शनि साढे साती या शनि के ढैया से परेशान हैं तो नवरात्रि में शनिवार के दिन शनि चालीसा और हनुमान चालीसा का पाठ करें। यह उपाय खास तौर से नवरात्रि में किये जाने वाले उपाय है, माना जाता है कि इन उपायों से शनि दोष से मुक्ति मिलती है।