Personality Test: खड़े होने का अंदाज खोलता है व्यक्तित्व के कई राज, जानें कैसी होती हैं पर्सनैलिटी

Personality Test: कभी गौर किया है आप कैसे खड़े होते हैं? छोटी सी बात लगती है, पर ये आपके बारे में बता सकती है! आज का ये पर्सनालिटी टेस्ट थोड़ा अलग है. चलिए देखते हैं आपकी खड़े होने की आदत आपके छिपे हुए स्वभाव को कैसे बताती है?

भावना चौबे
Published on -
personality

Personality Test: हम सब जानते हैं कि पहली मुलाकात में किसी व्यक्ति के बारे में राय बनाना कितना मुश्किल होता है। अक्सर हम मुखौटे पहनते हैं और अपनी असली भावनाओं और विचारों को छिपाते हैं। आप कभी किसी से मिले होंगे और पहली ही मुलाकात में उनके बारे में थोड़ा बहुत समझ गए होंगे। ऐसा कैसे होता है? दरअसल, बात करने के अलावा हमारा शरीर भी बहुत कुछ बोलता है। जी हां, चलने, बोलने, खाने की आदतों से लेकर हमारे चेहरे के अंगों तक, सब कुछ हमारे व्यक्तित्व की झलक दिखाते हैं।आजकल के विज्ञान में एक चीज है जिसे “व्यक्तित्व विज्ञान” यानी (Personality Test) कहते हैं। यह बताता है कि हम कैसे दिखते हैं और कैसे हरकत करते हैं, इसका हमारे स्वभाव पर असर होता है।

क्या आपने कभी गौर किया है कि आप कैसे खड़े होते हैं? ये तो छोटी सी बात लगती है, पर ये आपके बारे में बहुत कुछ बता सकती है। आज का ये पर्सनालिटी टेस्ट थोड़ा अलग है। हम देखेंगे कि आपकी खड़े होने की मुद्रा आपके छिपे हुए व्यक्तित्व लक्षणों को कैसे प्रकट करती है।

पैर फैलाकर खड़े होने का मतलब ?

कभी गौर किया है कि आप खड़े होते समय कभी-कभी पैर फैलाकर खड़े हो जाते हैं? ये आपकी शख्सियत के बारे में बहुत कुछ बताता है। ऐसे खड़े होने का मतलब है कि आप दमदार और आत्मविश्वासी हैं। आप घबराते नहीं और दुनिया का सामना करने के लिए तैयार रहते हैं। आप बेबाक और स्पष्ट हैं। आप अपनी बात कहने से नहीं कतराते।

इस तरह खड़े होने से आप ऑफिस में एक अच्छे लीडर की तरह लगते हैं। लोग आपका सम्मान करते हैं। मीटिंग या प्रेजेंटेशन के दौरान ये खड़ा होना फायदेमंद होता है क्योंकि ये आपका कॉन्फिडेंस दिखाता है। ऐसे खड़े होने का मतलब है कि आप पैसों के मामले में सोच-समझकर रिस्क लेते हैं और निवेश के फैसलों में विश्वास रखते हैं। ये तरीका आपको आर्थिक रूप से फायदा दिला सकता है।

एक पैर आगे करके खड़े होने का मतलब ?

अगर आप खड़े होते समय कभी-कभी एक पैर थोड़ा आगे कर लेते हैं? तो इसका मतलब है की आप एक्टिव और हमेशा आगे बढ़ने वाले इंसान हैं। नई चीजें सीखने और करने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। आपमें जोश और कुछ नया करने की लगन होती है। जिंदगी को आप रोमांच की तरह जीते हैं। ऑफिस में इस तरह खड़े होना ये बताता है कि आप बदलाव और तरक्की पसंद करते हैं। आप नए आइडियाज लाने में आगे रहते हैं। आपके सहकर्मी आपको एक अग्रणी इंसान मानते हैं जो हमेशा तरक्की की राह पर चलता है।

रिश्तों में ये आपका नए अनुभवों को अपनाने वाला स्वभाव दिखाता है। आप चीजों को रोमांचक बनाते हैं। पर ध्यान दें कि हर वक्त आगे रहने का चक्कर में आपका पार्टनर पीछे न रह जाए। रिश्ते में थोड़ा संतुलन बनाना भी जरूरी होता है। पैर आगे करके खड़े होना ये भी बताता है कि आप पैसों के मामले में अवसरों को पहचानने में तेज हैं। आप निवेश के अच्छे मौके ढूंढ निकालते हैं। लेकिन ये न भूलें कि हर चमकती चीज सोना नहीं होती। पैसा कमाने के लिए सोच-समझकर जोखिम लेना जरूरी है।

पैर क्रॉस करके खड़े होने का मतलब

कभी गौर किया है आप कभी-कभी खड़े होते समय पैर क्रॉस कर लेते हैं? ये आपकी आदत आपके बारे में ये बताती है की आप थोड़े सतर्क, गंभीर और शांत स्वभाव के इंसान हैं। कोई भी फैसला लेने से पहले अच्छी तरह सोचते हैं। आप चीजों को जल्दबाजी में नहीं करते बल्कि समझदारी से फैसले लेते हैं। भावनात्मक और शारीरिक रूप से आप सुरक्षा और आराम को महत्व देते हैं। ऑफिस में पैर क्रॉस करके खड़े होना ये बताता है कि आप मेहनती और बारीकी से काम करने वाले इंसान हैं। कोई भी काम करने से पहले उसे अच्छी तरह समझ लेते हैं। आप एक विश्वसनीय और भरोसेमंद कर्मचारी साबित होते हैं। हालांकि, कभी-कभी थोड़ा जोखिम उठाना भी जरूरी होता है।

रिश्तों में ये आपका समझदार और दूसरों की परवाह करने वाला स्वभाव दिखाता है। गहरे रिश्तों को महत्व देते हैं और सुनने में माहिर होते हैं। ये गुण आपको एक अच्छा साथी बनाते हैं, लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि दूसरों को आप अकेलेपन का एहसास न कराएं। कभी-कभी खुलकर बातचीत भी जरूरी होती है। पैर क्रॉस करके खड़े होना ये दर्शाता है कि आप पैसों के मामले में सतर्क रहते हैं। फिजूलखर्ची नहीं करते और बचत को अहमियत देते हैं। आप जोखिम भरे निवेश से बचते हैं और सुरक्षित तरीकों से पैसा कमाना पसंद करते हैं। ये आदत आपको मजबूत आर्थिक स्थिति बनाने में मदद करती है, लेकिन कभी-कभी थोड़ा रिस्क लेकर ज्यादा फायदा कमाया जा सकता है।

पैर चिपकाकर खड़े होने का मतलब

कभी न कभी आपने गौर किया होगा की खड़े होते समय कई लोग पैर को चिपका लेते हैं यानी दोनों पैरों को बराबरी पर रखते हैं। ये खड़े होने का स्टाइल आपके व्यक्तित्व के बारे में कई दिलचस्प बातें बता सकता है। खड़े होने का यह स्टाइल अक्सर शांत और अंतर्मुखी व्यक्तित्व का संकेत माना जाता है। ऐसे लोग अक्सर सोचने में मग्न रहते हैं और शोरगुल से दूर रहना पसंद करते हैं। वे अपनी भावनाओं को व्यक्त करने में थोड़े हिचकिचाते हैं और बड़े समूहों में सहज महसूस नहीं करते।

ये लोग अपने जीवन में संतुलन बनाए रखने का प्रयास करते हैं। वे काम और निजी जीवन दोनों को महत्व देते हैं और दोनों के बीच तालमेल बिठाने में सक्षम होते हैं। ये लोग प्यार में गंभीर होते हैं और किसी भी रिश्ते में जल्दबाजी नहीं करते हैं। वे सही जीवनसाथी ढूंढने के लिए समय लेते हैं और एक बार रिश्ता स्थापित हो जाने के बाद, वे पूरी तरह से समर्पित हो जाते हैं।

(Disclaimer- यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं के आधार पर बताई गई है। MP Breaking News इसकी पुष्टि नहीं करता।)

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 


About Author
भावना चौबे

भावना चौबे

इस रंगीन दुनिया में खबरों का अपना अलग ही रंग होता है। यह रंग इतना चमकदार होता है कि सभी की आंखें खोल देता है। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि कलम में बहुत ताकत होती है। इसी ताकत को बरकरार रखने के लिए मैं हर रोज पत्रकारिता के नए-नए पहलुओं को समझती और सीखती हूं। मैंने श्री वैष्णव इंस्टिट्यूट ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन इंदौर से बीए स्नातक किया है। अपनी रुचि को आगे बढ़ाते हुए, मैं अब DAVV यूनिवर्सिटी में इसी विषय में स्नातकोत्तर कर रही हूं। पत्रकारिता का यह सफर अभी शुरू हुआ है, लेकिन मैं इसमें आगे बढ़ने के लिए उत्सुक हूं। मुझे कंटेंट राइटिंग, कॉपी राइटिंग और वॉइस ओवर का अच्छा ज्ञान है। मुझे मनोरंजन, जीवनशैली और धर्म जैसे विषयों पर लिखना अच्छा लगता है। मेरा मानना है कि पत्रकारिता समाज का दर्पण है। यह समाज को सच दिखाने और लोगों को जागरूक करने का एक महत्वपूर्ण माध्यम है। मैं अपनी लेखनी के माध्यम से समाज में सकारात्मक बदलाव लाने का प्रयास करूंगी।

Other Latest News